yashasvi jaiswal irani cup

ईरानी कप (Irani Cup) का आगाज आज से हो चुका है और पहले ही दिन सौराष्ट्र की टीम रेस्ट ऑफ इंडिया के गेंदबाजों के सामने जूंजते हुए दिखे। हाल ही में दिलीप ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में हनुमा विहारी की टीम साउथ जोन को फाइनल मुकाबले में वेस्ट जोन से हार का सामना करना पड़ा था जिसके बाद वो अपनी टीम को लेकर डबल तैयारियों के साथ ईरानी कप में उतरे हैं।

हालांकि हनुमा विहारी की रेस्ट ऑफ इंडिया की स्कॉड में एक ऐसा बल्लेबाज भी शामिल है जो लगातार दो मुकाबलों में दोहर शतक ठोक चुका है लेकिन उसके बावजूद उन्हें प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं दिया गया है।

दोहरा शतक जड़ने के बावजूद नहीं मिला मौका

ईरानी कप (Irani Cup) का मुकाबला आज से शुरू हो चुका है, और पहले ही इनिंग्स में सौराष्ट्र की टीम महज 98 रनों के स्कोर में सिमट गयी, जिसमें रेस्ट ऑफ इंडिया के गेंदबाजों का बहुत बड़ा योगदान रहा। इस मुकाबले में मुकेश कुमार ने 4 तो उमरान मलिक ने 3 विकेट चटकाए।

हनुमा विहारी की कप्तानी वाली रेस्ट ऑफ इंडिया के स्कॉड में एक युवा बल्लेबाज भी शामिल है जिसने अपने पिछले 3 मुकाबले में 2 दोहरा शतक ठोक चुका है लेकिन इसके बावजूद उसे प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया गया है।

हालांकि इस क्रिकेटर का जीवन बेहद ही ज्यादा संघर्ष भरा रहा है और इतने अच्छे प्रदर्शन के बावजूद यशस्वी जयसवाल को प्लेइंग इलेवन में मौका न देकर सेलेक्टर्स ने उनके साथ नाइंसाफी की है।

गोलगप्पा बेचकर बना क्रिकेटर

Yashasvi Jaiswal
Yashasvi Jaiswal

यशस्वी जयसवाल की पर्सनल लाइफ से लगभग सभी अंजान हैं, लेकिन एक समय था जब वो अपने पिता के साथ गोलगप्पा बेचा करते थे और साथ में क्रिकेट की प्रैक्टिस भी किया करते थे। उनकी इसी मेहनत का नतीजा रहा जो वो इंडिया अंडर-19 टीम में सेलेक्ट भी हुए और अंडर-19 वर्ल्ड कप में टीम को चैम्पियन बनाने में अहम योगदान दिया था।

घरेलू क्रिकेट की बात करें तो यश्सवी जयसवाल का करियर अबतक शानदार रहा है। फर्स्ट क्लास में उन्होंने 7 मुकाबलों की 13 पारियों में 84.58 की औसत से 1015 रन बना चुके हैं जिसमें 5 शतक और 1 अर्धशतक शामिल है।

वहीं 26 लिस्ट-ए मुकाबले खेलते हुए उन्होंने 48.47 की औसत और 3 शतक, 5 अर्धशतक की मदद से 115 रन ठोक चुके हैं। इतने अच्छे फॉर्म में होने के बावजूद उन्हें ईरानी कप (Irani Cup) के लिए रेस्ट ऑफ इंडिया की प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया गया है।

दिलीप ट्रॉफी में ठोका था दोहरा शतक

हाल ही में दिलीप ट्रॉपी में वेस्ट जोन की तरफ से खेलते हुए यशस्वी जयसवाल ने इस टूर्नामेंट में विस्फोटक बल्लेबाजी की है। बता दें कि उन्होंने अपने पिछले 6 मुकाबलों की 11 पारियों में बल्लेबाजी करते हुए 5 शतक लगा चुके हैं जिसमें दो दोहरा शतक भी शामिल है। दिलीप ट्रॉपी के फाइनल मुकाबले में साउथ जोन की तरफ से बल्लेबाजी करते हुए पहली पारी में भले ही वो फ्लॉप हुए हो लेकिन दूसरी पारी में उन्होंने विस्फोटक अंदाज में 265 रनों की पारी खेलकर टीम को विजेता बनाने में अहम भूमिका निभाई थी।