यशस्वी जैसवाल ने पूरे किये 1000 यूथ वनडे रन 

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

अंडर-19 विश्व कप के अपने पहले मैच में ही यशस्वी जैसवाल ने की शानदार उपलब्धि हासिल 

अंडर-19 विश्व कप के अपने पहले मैच में ही यशस्वी जैसवाल ने की शानदार उपलब्धि हासिल

इनदिनों साउथ अफ्रीका की धरती पर अंडर-19 विश्व कप खेला जा रहा है. आज 19 जनवरी को भारतीय टीम इस विश्व कप में अपने अभियान की शुरूआत कर रही है. बता दें, कि अंडर-19 विश्व कप की मौजूदा चैंपियन भारतीय टीम की अंडर-19 टीम ही है. 2020 के अंडर-19 विश्व कप में भारतीय टीम ए ग्रुप में जापान, न्यूजीलैंड और श्रीलंका के साथ है.

यशस्वी जैसवाल ने पूरे किये 1000 यूथ वनडे रन

अंडर-19 विश्व कप के अपने पहले मैच में ही यशस्वी जैसवाल ने की शानदार उपलब्धि हासिल 1

आज 19 जनवरी को भारत का मुकाबला श्रीलंका की टीम के साथ है. इस मैच में भारतीय टीम के ओपनर बल्लेबाज यशस्वी जैसवाल ने एक शानदार उपलब्धि हासिल की है. दरअसल, यशस्वी जैसवाल ने अपने यूथ वनडे क्रिकेट के कुल 1000 रन पूरे कर लिए हैं. यशस्वी जैसवाल ने मात्र 22 पारियों में ही अपने 1000 यूथ वनडे रन पूरे किये हैं.

बता दें, कि यशस्वी जैसवाल ने विजय हजारे वनडे टूर्नामेंट में मुंबई के लिए खेलते हुए शानदार प्रदर्शन किया था और अपनी एक बड़ी पहचान बनाई है. उन्होंने इस टूर्नामेंट के 6 मैचों में 112.80 की शानदार औसत से 564 रन बनाए थे. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 104.05 का रहा था. कुल 3 शतक भी इस टूर्नामेंट में इन्होने बनाए थे. जिसमे से एक शतक को दोहरे शतक में तब्दील किया था.

सबसे तेज 1000 रन बनाने वाले तीसरे भारतीय

अंडर-19 विश्व कप के अपने पहले मैच में ही यशस्वी जैसवाल ने की शानदार उपलब्धि हासिल 2

यशस्वी जैसवाल यूथ वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 1000 रन बनाने वाले तीसरे भारतीय खिलाड़ी बने हैं. यशस्वी जैसवाल ने 22 पारियों में 1000 रन बनाने की उपलब्धि हासिल की है. वहीं शुभमन गिल ने मात्र 13 पारियों में अपने 1000 यूथ वनडे रन पूरे कर लिए थे. वहीं साल 2012 में भारत को अंडर-19 विश्व कप जीताने वाले उनमुक्त चंद ने 17 पारियों में 1000 यूथ वनडे रन पूरे किये थे.

आईपीएल 2020 की नीलामी में यशस्वी जैसवाल को राजस्थान रॉयल्स की टीम ने 2.40 करोड़ की कीमत में ख़रीदा है. यशस्वी जैसवाल उत्तर प्रदेश के भदोही जिले के है, लेकिन क्रिकेटर बनने के लिए वह अपने चाचा के पास मुंबई पहुँच गए थे.

चाचा की  आर्थिक स्थिति अच्छी ना होने के कारण उन्हें अपना पेट पालने व क्रिकेट सिखने के लिए कुछ ना कुछ काम करना रहना पड़ता था. मुंबई में उन्होंने एक डेयरी शॉप पर नौकरी भी की है और दशहरा मेले के दौरान उन्होंने आजाद मैदान पर गोल-गप्पे भी बेचे हैं.

यूथ वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 1000 रन:

13 पारियां- शुभमन गिल
17 पारियां- उन्मुक्त चंद
22 पारियां – यशस्वी जैसवाल

Related posts