IPL AUCTION 2020: युसूफ पठान को नीलामी में नहीं मिला कोई खरीददार 1
Indian Yusuf Pathan gets a standing ovation during the 5th and final One Day International (ODI) between India and South Africa at Super Sports Park in Centurion on January 23, 2011. AFP PHOTO / ALEXANDER JOE (Photo credit should read ALEXANDER JOE/AFP/Getty Images)

कोलकाता में आईपीएल 2020 के लिए खिलाड़ियों की नीलामी हो रही है। इसमें 338 खिलाड़ियों पर बोली लग रही है। भारतीय टीम से बाहर चल रहे युसूफ पठान भी इस नीलामी में शामिल हैं। उनका बेस प्राइस एक करोड़ रूपये है। उनकी टीम सनराइजर्स हैदराबाद ने नीलामी से पहले रिलीज कर दिया था। फ्रेंचाइजी ने 2018 की नीलामी में सिर्फ एक करोड़ 90 लाख रूपये देकर अपने साथ जोड़ा था।

सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में शामिल

IPL AUCTION 2020: युसूफ पठान को नीलामी में नहीं मिला कोई खरीददार 2

युसूफ पठान की गिनती आईपीएल के सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में की जाती है। हालाँकि, पिछले तीन सीजन उनके लिए कुछ खास नहीं रहे हैं। उन्होंने अभी तक 174 आईपीएल मैच खेले हैं और इसमें उनके नाम 29 की औसत और 143 की स्ट्राइक रेट से 3204 रन दर्ज है। उनका शबे बड़ा स्कोर 100 रन है। गेंदबाजी में भी उन्होंने 42 बल्लेबाजों को आउट किया है।

आईपीएल में सबसे तेज शतक लगाने का भारतीय रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम दर्ज है। आईपीएल 2010 में मुंबई इंडियंस के खिलाफ उन्होंने 37 गेंदों में शतक जड़ा था। पिछले तीन सीजन में खेले 40 मैचों में उनके बल्ले से सिर्फ 343 रन निकले हैं। आईपीएल 2019 में तो उन्होंने 10 मैचों में सिर्फ 40 रन बनाये थे।

किसी ने नहीं खरीदा

IPL AUCTION 2020: युसूफ पठान को नीलामी में नहीं मिला कोई खरीददार 3

युसूफ पठान के पिछले 3 सीजन कुछ खास नहीं थे और इसी वजह से उन्हें किसी ने नहीं खरीदा। उनकी भूमिका निचले क्रम में आकर तेजी से रन बनाने के साथ ही कुछ ओवर स्पिन गेंदबाजी करने की होती है लेकिन किसी टीम ने उन्हें खरीदना सही नहीं समझा।

पठान आईपीएल के पहले तीन सीजन राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा थे। इसके बाद 2011 की नीलामी में कोलकाता नाईट राइडर्स ने युसूफ पठान खरीद लिया। 2017 तक वह केकेआर के साथ ही थे। इस दौरान टीम ने आईपीएल 2012 और 2014 को अपने नाम किया था। आईपीएल 2014 के अंतिम लीग में उन्होंने 22 गेंदों में 72 रनों की पारी खेलकर टीम को पॉइंट्स टेबल में दूसरे स्थान पर पहुंचा दिया था।