युसूफ पठान ने किया नैरोबी का रुख, स्ट्रै लायंस क्रिकेट क्लब से किया करार

sagar mhatre / 03 September 2016

भारतीय टीम अमेरिका में वेस्टइंडीज के खिलाफ हुई टी ट्वेंटी सीरीज 1-0 से हारी. भारतीय टीम पहला टी ट्वेंटी 1 रन से हारा. तो दुसरा मैच बारिश की वजह से रद्द हुआ.

245 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम आखिरी ओवर में 8 रन बनाने में असफल रहीं. कई लोगों ने महेंद्र सिंह धोनी पर सवाल उठाए, तो कई लोगों ने ड्वेन ब्रावो की तारिफ कि, जो बेहतरीन डेथ गेंदबाज हैं. लेकिन एक बात माननी पड़ेगी कि, भारत को युसूफ पठान जैसे बड़े हिटर की कमी महसूस हुई. युसूफ पठान ने इस साल के आईपीएल में भी शानदार प्रदर्शन किया था.

यह भी पढ़े : विडियो: जब इरफान और युसूफ पठान ने श्रीलंका के खिलाफ हारे हुए मैच में दिलाया भारत को विजय

लेकिन युसूफ पठान अब केन्या चले गये हैं, जहां ने लायन्स क्रिकेट क्लब की ओर से लीग में खेलेंगे. युसूफ पठान ने कहा कि, मुझे बीसीसीआई से अनुमती मिल गयी हैं, और मैं केन्या जा रहा हूं.

2 महिने पहले युसूफ पठान ढाका प्रीमीयर लीग में खेलने बांग्लादेश गये थे, जहां उन्होंने 2 मैच ही खेले थे. रमजान का महिना होने की वजह से युसूफ पठान ज्यादा नहीं खेल पाए. ढाका प्रीमीयर लीग के पहले मैच में युसूफ पठान ने 47 गेंदों पर 60 रन बनाए थे, और अपनी टीम को एक शानदार जीत दिलाई थी. युसूफ पठान ने उस मैच में 7 चौके और 2 छक्के लगाए थे.

यह भी पढ़े : मोहम्मद कैफ ने लगायी युवराज सिंह से मदद की गुहार

फिर दुसरे मैच में युसूफ पठान ने 20 रन बनाए थे, और फिर रमजान शुरू होने के वजह से वापस भारत लौटे थे.

इस साल के आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से खेलते हुए युसूफ पठाण ने बेहतरीन प्रदर्शन किया. इस साल के आईपीएल में 72 की औसत और 145 के स्ट्राईक रेट से युसूफ पठाण ने 361 रन बनाए थे.और कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए काफी अहम भुमिका निभाई थी.

युसूफ पठान काफी चुस्त और तंदुरुस्त नजर आए. युसूफ पठान ने कहा, कोलकाता नाइट राइडर्स के ट्रेनर एड्रियन ने मेरी फिटनेस के उपर काफी काम किया. मेरी फिटनेस अब पहले से काफी बेहतर हो गयी हैं. मैनें काफी ज्यादा मेहनत कि, और मुझे आईपीएल के दौरान उसका फल मिला.

यह भी पढ़े : मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने दिया भारतीय क्रिकेट फैन्स को एक शानदार तोहफा

युसूफ पठान ने भारत के लिए अपना आखिरी मैच 2012 में दक्षिण अफ्रिका के खिलाफ खेला था. युसूफ पठान ने कहा, माइक हसी और ब्रैड हॉग ये हमारे सामने सबसे बड़े उदाहरण हैं. ब्रैड हॉग ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय टी ट्वेंटी मैच 43 साल की उम्र में खेला. युनिस खान (38), और मिस्बाह उल हक (42), उन्होंने इस उम्र में भी काफी शानदार शतक लगाए. और इसलिए उम्र कोई मायने नहीं रखती. मैं 40 साल की उम्र तक क्रिकेट खेलता रहूंगा.

Related Topics