/

अश्विन और जडेजा के बाद अब साउथ अफ्रीका में चलेगा इस स्पिनर का जादू, नहीं है इसे टर्निंग विकेट की जरूरत, बीसीसीआई भेज रहा अफ्रीका

पिछले दो सालोंं में भारतीय क्रिकेट टीम को आर अश्वीन और रविंद्र जडेजा के बाद दो और ऐसे स्पिन गेंदबाज मिले हैं जिन्हें देखकर लगता है कि आने वाले वक्त में ये दोनों भारतीय क्रिकेट के लिए एक फ्रंट लाइन स्पिन गेंदबाज बन सकते हैं। हम बात कर रहें हैं युजवेंद्र चलह और कुलदीप यादव की। इन दोनों गेंदबाजों ने पिछले कुछ समय अपनी लाजवाब गेंदबाजी से काफी प्रभावित किया है।

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

पिछले कुछ सीरीज में अश्विन और जडेजा को आराम दिया गया था और उनकी जगह युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव को टीम में खेलने का मौका दिया गया था। इन दोनों ने अपने मौके का भरपूर फायदा उठाया। अब युजवेंद्र चहल को साउथ अफ्रीका के शॉर्टर फॉर्मेट के मैचों के लिए भी सिलेक्ट किया गया है।

साउथ अफ्रीका में खेलने के लिए तैयार युजवेंद्र चहल

अश्विन और जडेजा के बाद अब साउथ अफ्रीका में चलेगा इस स्पिनर का जादू, नहीं है इसे टर्निंग विकेट की जरूरत, बीसीसीआई भेज रहा अफ्रीका 1

लिहाजा चहल अपने प्रदर्शन को वहां भी कायम रखना जरूर चाहेगी। चहल अब साउथ अफ्रीका का चैलेंज लेने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। साउथ अफ्रीका इंडिया ए टीम के साथ विदेशी पिचों का दौरा किया है और वहां अच्छा प्रदर्शन भी किया है। चहल ने खुद कहा कि वे पहले भी साउथ अफ्रीका में इंडिया ए टीम के लिए खेल चुके हैं, लेकिन मुख्य टीम के साथ नहीं खेले हैं। उन्होंने कहा कि फ्रीडम सीरीज के दूसरे मैच में जब मैंने विकेट देखी तो वो बिल्कुल अलग थी। चहल ने कहा कि इस पिच में बॉल स्पिन हो रहा था और नीचे भी रह रहा था। जो साउथ अफ्रीका के लिहाज से काफी अलग पिच था।

वनडे और टी-20 में चहल का रिकॉर्ड बेहतर

अश्विन और जडेजा के बाद अब साउथ अफ्रीका में चलेगा इस स्पिनर का जादू, नहीं है इसे टर्निंग विकेट की जरूरत, बीसीसीआई भेज रहा अफ्रीका 2

27 वर्षीय चलह साउथ अफ्रीका सीरीज के लिए सिलेक्ट हुए टीम में तीन फ्रंटलाइन स्पिनर में से एक स्पिन गेंदबाज हैं। 1 फरवरी से शुरू होने वाली वनडे औऱ टी-20 सीरीज के लिए रविंचंद्र अश्विन और जडेजा के साथ-साथ यजुवेंद्र चहल को टीम में मौका दिया गया है। ये मौका निश्चित तौर पर चहल के लिए एक बड़ा तुरुप का इक्का साबित हो सकता है।

चहल ने इसके ऊपर कहा कि सफेद बॉल से मैच में गेंदबाजी अलग तरीके की होगी और इसके लिए वो लगातर प्रैक्टिस कर रहे हैं। चहल ने अब तक 17 वनडे मैचों में 27 विकेट हासिल किए हैं वहीं 14 टी-20 मैचों में उन्होंने 26 विकेट हासिल किए हैं। टी-20 में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 25 रन देकर 6 विकेट लेना रहा था।