भारतीय टीम की नंबर-4 की परेशानी को लेकर युवराज सिंह ने कही यह बात 

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारतीय टीम की नंबर-4 की परेशानी को लेकर बीसीसीआई पर भड़के युवराज सिंह ने कही यह बात  

भारतीय टीम की नंबर-4 की परेशानी को लेकर बीसीसीआई पर भड़के युवराज सिंह ने कही यह बात 

सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों मिली 18 रनों की हार से भारत का सफर वर्ल्ड कप 2019 में खत्म हो गया। इस हार के बाद  भारतीय टीम मैनेजमेंट का विशेष रूप से ध्यान भारतीय टीम की सबसे बड़ी समस्या नंबर 4 बल्लेबाजी क्रम के लिए परफेक्ट बल्लेबाज को सेट करना है।

भारतीय टीम की नंबर-4 की परेशानी को लेकर बीसीसीआई पर भड़के युवराज सिंह ने कही यह बात  1

भारतीय टीम ने पिछले एक साल में उस स्लॉट में कई बल्लेबाजों को आजमाया लेकिन किसी ने भी खुद उसके लिए स्थिर होने का का भरोसा नहीं दिलाया। अंतत: टीम की समस्या अभी भी वहीं की वहीं है।

टीम मैनेजमेंट को नंबर-4 पर मेहनत करनी चाहिए थी

भारत के पूर्व खिलाड़ी युवराज सिंह, जिन्होंने 2007 और 2011 में भारत को दो आईसीसी ट्रॉफी जीतने में मदद करके नंबर 4 पर अपनी जगह पक्की की थी। भारतीय टीम मैनेजमेंट ने वर्ल्ड कप में जिस तरह से महत्वपूर्ण बल्लेबाजी क्रम के साथ व्यवहार किया उससे कोई सहमत नहीं है।

भारतीय टीम की नंबर-4 की परेशानी को लेकर बीसीसीआई पर भड़के युवराज सिंह ने कही यह बात  2

इसपर युवराज सिंह ने कहा,

“टीम प्रबंधन को किसी को तैयार करना चाहिए था। यदि कोई नंबर 4 पर विफल हो रहा था, तो टीम प्रबंधन को उस खिलाड़ी को बताना चाहिए था कि वह वर्ल्ड कप खेलने जा रहा है। 2003 वर्ल्ड कप की तरह, हम टूर्नामेंट से पहले न्यूजीलैंड खेल रहे थे। , हर कोई विफल हो रहा था। लेकिन वर्ल्ड कप में वही टीम खेलती रही।

रायडू को टीम में शामिल न करना आश्चर्यनजक

युवराज, जो 2011 वर्ल्ड कप में मैन ऑफ द टूर्नामेंट थे, उन्होंने श्रृंखला में असफलता के बाद अंबाती रायडू को टीम में जगह न मिलने पर भी आश्चर्य जताया।

भारतीय टीम की नंबर-4 की परेशानी को लेकर बीसीसीआई पर भड़के युवराज सिंह ने कही यह बात  3

युवराज ने कहा,

“यह देखना निराशाजनक था कि उन्होंने रायडू के साथ क्या किया। वह वर्ल्ड कप के लिए विवाद में थे। उन्होंने न्यूजीलैंड में रन बनाए, लेकिन तीन-चार खराब पारियों के बाद वह हार गए।”

फिर ऋषभ को टीम में शामिल किया गया और उनका प्रदर्शन भी संतोषजनक नहीं रहा। अगर वनडे क्रिकेट में नंबर 4 एक महत्वपूर्ण बल्लेबाजी क्रम है, अगर आप चाहते हैं कि कोई उस स्थिति में अच्छा करे, तो आपको उसे वापस करना होगा। आप किसी को नहीं छोड़ सकते।

“मैं रायडू को लेकर काफी दुखी हूं कि उन्होंने संन्यास ले लिया। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि वे पूरी स्थिति से कैसे निपटे। आप वर्ल्ड कप खेलना चाहते हैं और अचानक आपको जगह नहीं मिलती है तो निराशा होना तय है।”

दिनेश कार्तिक ने भी नहीं किया संतोषजनक प्रदर्शन

बीच में, टीम ने दिनेश कार्तिक को भी नंबर-4 पर बल्लेबाजी के लिए ट्राई किया था। अंत में, हम नहीं जानते कि उनकी योजना नंबर 4 के लिए क्या थी। उन्होंने ऋषभ का फिर से समर्थन करते हुए कहा

उन्होंने वास्तव में अच्छा प्रदर्शन किया। अगर रोहित और विराट जल्दी आउट हो गए तो पारी संभालने की जिम्मेदारी नंबर-4 बल्लेबाज पर थी। हर कोई टीम की इस कमज़ोरी के बारे में जानता था। हमें एक ठोस नंबर 4 की जरूरत थी। मुझे टीम मैनेजमेंट की सोच समझ नहीं आई।

Related posts