भारतीय टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद युवराज सिंह को लेकर यह क्या बोल बैठे 1

भारत और इंग्लैंड के बीच तीन वनडे मैचों के श्रृंखला सामप्त हो चुकी हैं और जिसका सभी को पहले से अंदाज़ा था, वो ही हुआ. मेजबान भारतीय टीम विराट कोहली की अगुवाई में 2-1 से सीरीज जीतकर अपने नाम की.

एकदिवसीय सीरीज तो खत्म हो चुकी हैं, लेकिन सीरीज में इंग्लैंड के खिलाफ शानदार खेल दिखाने वाले युवराज सिंह का नाम अभी भी सभी की जुबान पर चढ़ा हुआ हैं. भारतीय टीम में तीन सालों के लम्बे इंतजार के बाद वापसी करने वाले युवराज सिंह ने लाजवाब खेल दिखाया और श्रृंखला में अच्छा प्रदर्शन किया. युवराज सिंह के अच्छे प्रदर्शन को देखते हुए चयन समिति के अध्यक्ष एमएसके प्रसाद भी उनकी तारीफ़ करते हुए नहीं थक रहे हैं. हमारे द्वारा चुनी गई टीम को कप्तान की टीम कहना गलत : एम.एस.के प्रसाद 

हाल में ही दिए अपने के इंटरव्यू में एमएसके प्रसाद ने कहा, कि

”युवराज सिंह ने लाजवाब खेल दिखाया. घरेलू क्रिकेट में युवराज सिंह का जो प्रदर्शन रहा, वह तारीफ के काबिल था. अगर हम उनके शानदार प्रदर्शन को देखने के बाद भी टीम में शामिल ना करते थे, तो यह किसी बड़े जुए को खेलने के बराबर रहता. चयन समिति में पांच अधिकारी होते हैं, जिनमे तीन अधिकारी तो घरेलू क्रिकेट पर ही ध्यान लगाये हुए थे.” 5 युवा भारतीय खिलाड़ी जो 2017 में कर सकते अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण 

एमएसके प्रसाद ने कहा, कि

”युवराज सिंह ने टीम ने वापस आने के लिए वाकई में बहुत मेहनत की हैं. रणजी में बड़े बड़े स्कोर बनाना, उनकी रनों के प्रति भूख को दर्शाता हैं. युवराज एक अनुभवी खिलाड़ी हैं और उनके अनुभव की टीम को बहुत जरुरत हैं.’

एमएसके प्रसाद के अनुसार-

”हमें शुरू से ही युवराज सिंह की काबिलियत पर कोई संदेह नहीं था. युवी ने कटक में दबाव में जो पारी खेली, वह बेमिसाल थी. युवराज सिंह की पारी से साफ़ ज़ाहिर होता हैं, कि उनकी टीम में वापसी से मध्यक्रम में मजबूती आई हैं.”

Akhil Gupta

Content Manager & Senior Writer at #Sportzwiki, An ardent cricket lover, Cricket Statistician.