RSWS: युवराज सिंह बने सबसे भाग्यशाली भारतीय क्रिकेटर, 6 बड़े टूर्नामेंट जीतने का बनाया रिकॉर्ड 1

भारतीय टीम के चहेते क्रिकेटर युवराज सिंह बेशक अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं। लेकिन वह आज भी मैदान पर अपनी उसी काबिलियत के साथ उतरते है जिसके लिए उन्हें जाना जाता। रविवार को हुए रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज के फाइनल मुकाबले में इसका उदाहरण देखने को मिला।

इसी पर विचार विर्मश करते हुए आज हम इस लेख में आपको बताएंगे, युवराज के करियर में जुड़ी एक नई उपलब्धि के बारे में।

युवराज सिंह की हरफनमौला फॉर्म जारी

RSWS: युवराज सिंह बने सबसे भाग्यशाली भारतीय क्रिकेटर, 6 बड़े टूर्नामेंट जीतने का बनाया रिकॉर्ड 2

हाल ही में आयोजित हुए रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज का रविवार 21 मार्च को फाइनल मुकाबला इंडिया लीजेंड्स और श्रीलंका लीजेंड्स के बीच खेला गया। इस मुकाबले को इंडिया लीजेंड्स ने 14 रनो से जीत खिताब अपनेे नाम किया।

इस मैच में युवराज सिंह एक बार फिर गेंदबाजो के लिए मुसीबत बन कर सामने आए, अपने विस्फोटक अंदाज के लिए चर्चित युवराज सिंह ने फाइनल मुकाबले में 146.34 के स्ट्राइक रेट के साथ बल्लेबाजी करते हुए 41 गेंदो में 60 रनो की पारी खेली, उनकी इस पारी में 4 चौके और 4 छक्के शामिल थे।

युवराज ने युसूफ पठान के साथ मिलकर इंडियन लीजेंड्स की पारी को 181 रनो के लक्ष्य तक पहुंचाया, युसूफ पठान के बल्ले से 172.22 के स्ट्राइक रेट के साथ आतिशी अंदाज में 32 गेंदो पर 62 रनो की पारी निकली।

युवराज के करियर में जुड़ी एक और ट्रॉफी

RSWS: युवराज सिंह बने सबसे भाग्यशाली भारतीय क्रिकेटर, 6 बड़े टूर्नामेंट जीतने का बनाया रिकॉर्ड 3

पंजाब के इस शेर के क्रिकेट करियर की बात करें, तो युवराज सिंह क्रिकेट की अधिकतर सभी ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले खेल चुके हैं। अब चाहे वे आईसीसी टुर्नामेंट के फाइनल मुकाबले हो या घरेलु क्रिकेट।

युवराज सिंह के इस सिलसिले की शुरूआत हुई थी वर्ष 2000 के अंडर-19 वर्ल्ड कप के साथ जहाँ युवराज ने भारत को पहली बार इस ट्रॉफी का विजेता बनवाया था. वहाँ से शुरू हुए अपने इस सिलसिले को युवराज ने वर्ष 2021 में भी जारी रखा हुआ है।

साल 2002 में वह आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी के भी विजेता खिलाड़ी बने थे। वर्ष 2007 में खेले गए पहले टी-20 विश्व कप में युवराज सिंह का भारत की जीत में काफी अहम रोल रहा था। उसमें इंग्लैंड के खिलाफ लगाए 6 बॉल पर 6 छक्के हो या सेमीफाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई 70 रनो की पारी।

विश्व कप 2011 के रह चुके ‘मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट’

RSWS: युवराज सिंह बने सबसे भाग्यशाली भारतीय क्रिकेटर, 6 बड़े टूर्नामेंट जीतने का बनाया रिकॉर्ड 4

वहीं बात करें 2011 विश्व कप की तो उस टुर्नामेंट में भी टीम इंडिया को फाइनल में पहुँचाने में अहम रोल था। युवराज को विश्व कप 2011 में ‘मैन ऑफ द टुर्नामेंट’ भी चुना गया था।

इसके आलावा वह आईपीएल में भी दो बार फाइनल मुकाबलो में टीम का हिस्सा रह चुके है। जिसमें दोनो बार उनकी टीम आईपीएल विजेता रही है। वर्ष 2016 में वह सनराईजरस हैदराबाद से खेलते थे और वर्ष 2019 में वह मुम्बई इंडियंस की टीम का हिस्सा थे।