युवराज सिंह ने अपने और मौजूदा दौर के अनुशासन पर कही ये बात

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

हमारे समय के सीनियर्स काफी अनुशासित थे: युवराज सिंह 

हमारे समय के सीनियर्स काफी अनुशासित थे: युवराज सिंह

भारतीय क्रिकेट टीम में मौजूदा दौर में विराट कोहली की कप्तानी में टीम लगातार शानदार प्रदर्शन कर रही है। विराट कोहली ने अपनी कप्तानी में टीम को नई ऊंचाईयों तक पहुंचाया है। जहां से उन्हें अलग मुकाम हासिल हो चुका है। विराट कोहली की कप्तानी में रोहित और कोहली जैसे सीनियर खिलाड़ियों के साथ कई जूनियर खिलाड़ी हैं।

युवराज सिंह ने अपने दौर और मौजूदा दौर में टीम के अनुशासन को लेकर की ये बात

कोई भी देश का कोई भी खिलाड़ी अपने सीनियर खिलाड़ियों से सीख लेते हुए ही अनुशासन के मामले में आगे बढ़ता है। सीनियर्स खिलाड़ी जूनियर्स के लिए प्रेरणादायी होते हैं और वे वैसा ही अनुशानसन दिखाएंगे जैसा उन्हें अपने सीनियर्स से देखने को मिलता है।

युवराज सिंह

उसी तरह से भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज युवराज सिंह अलग-अलग कप्तानों के कार्यकाल में खेले हैं। जो सौरव गांगुली की कप्तानी में भी खेले और विराट कोहली की कप्तानी में भी खेले। इसी कारण से उन्होंने अपने दौर और आज के दौर में अनुशासन के बीच का अंतर बताया।

हमारे दौर के सीनियर खिलाड़ी थे बहुत अनुशासित

भारतीय टीम के सिक्सर किंग कहे जाने वाले युवराज सिंह का रोहित शर्मा के साथ सवाल-जवाब कॉन्टेस्ट हुआ। इस दौरान रोहित शर्मा ने युवराज सिंह को एक बड़ा दुविधा में डालने वाला सवाल किया। कि 2007 के टी20 विश्व कप और 2011 के विश्व कप जीतने वाले खिलाड़ी और मौैजूदा दौर में विराट कोहली की कप्तानी में खेलने वाले खिलाड़ियों में खास अंतर क्या था ?

हमारे समय के सीनियर्स काफी अनुशासित थे: युवराज सिंह 1

इस पर युवराज सिंह ने इस इंटरव्यू के दौरान कहा कि “हम और हमारी टीम के बीच अब जो अंतर है वो ये है कि हमारे समय के सीनियर लोग बहुत ही अनुशासित थे। सोशल मीडिया कोई विकर्षण नहीं था।

युवी ने बताया कैसे उन्होंने भी अपने दौर के सीनियर खिलाड़ियों से सीखा अनुशासन

युवराज सिंह ने इसके बाद तो अपने दौर में खेलने वाले खिलाड़ियों के अनुशासन को लेकर पूरी तरह से बखान कर डाला। युवराज सिंह ने बताया कि कैसे उनके दौर में खेलने वाले सीनियर खिलाड़ियों से उन्होंने भी अनुशासन में रहना सीखा।

हमारे समय के सीनियर्स काफी अनुशासित थे: युवराज सिंह 2

युवी ने इसके लेकर कहा कि “हमें एक निश्चित तरीके से खुद को आगे ले जाना था। हम अपने सीनियर्स को देखते थे कि वे कैसा व्यवहार करते हैं। मीडिया से बात करते हुए भी रास्ते खोजते थे। मैंने बहुत कुछ सीखा। यही हमने सीखा और आप लोगों को भी बताया।”

Related posts