IND vs ENG: भारत की जीत से नाखुश हैं युवराज सिंह, कह दिया कुछ ऐसा 1

पिंक बॉल टेस्ट में इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने जिस तरह से भारतीय गेंदबाजों के सामने घुटने टेके। उसने सभी के मन में सवाल खड़े कर दिए। कई क्रिकेट दिग्गजों ने मोटेरा की पिच को आदर्श पिच नहीं माना है। भारत के पूर्व क्रिकेटर्स युवराज सिंह काफी नाखुश हैं। यही नहीं हरभजन सिंह, वीवीएस लक्षमण और माइकल वान ने भी पिच पर सवालिया निशान लगाए हैं। सभी का कहना है कि ये पिच टेस्ट के लायक नहीं है। इंग्लिश मीडिया ने भी इस बात को हवा दी है। वहीं महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने पिच की जगह खराब को दोष दिया है।

कुंबले के 1000 और भज्जी के होते 800 विकेट

युवराज सिंह

भारत और इंग्लैंड के बीच चल रहे तीसरे टेस्ट में भारत ने इंग्लैंड पर 10 विकेट से जीत दर्ज की है। इस मैच में कुल 30 विकेट गिरे। वो भी सिर्फ दो दिन में ही। विकेटों के पतझड़ की बात करें तो टेस्ट के पहले दिन 13 तो दूसरे दिन 17 विकेट गिरे और 30 में से 28 विकेट स्पिनरों ने अपने नाम किए। जबकि तेज गेंदबाजों के खाते में सिर्फ 2 ही विकेट आए। ऐसे में अधिकतर लोग पिच पैर सवाल उठाने लग गए।

भारत के पूर्व आलराउंडर युवराज सिंह ने भी काफी आलोचना की है। वैसे तो उन्होंने भारतीय गेंदबाजों की तारीफ की है। लेकिन, ये भी कहा है कि अगर ऐसी पिच अनिल कुंबले और हरभजन सिंह को मल्टी तो आज उनके विकेटों की संख्या बहुत ज्यादा होती। युवराज ने ट्वीट क्या है कि,

“मैच दो दिन में ही खत्म हो गया, पक्के तौर पर नहीं कह सकता कि यह टेस्ट क्रिकेट के लि अच्छा है। अगर अनिल कुंबले और हरभजन सिंह इस तरह के विकेट पर गेंदबाजी करते तो उनके नाम पर 1000 और 800 विकेट दर्ज होते। फिर भी अक्षर क्या स्पैल था बधाई, अश्विन, इशांत को बधाई।”

माइकल वॉन ने भी की आलोचना

वहीं पूर्व भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने भी इससे सहमति जताई। टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट लेने वाले हरभजन ने कहा कि “यह आदर्श पिच नहीं थी। अगर इंग्लैंड अपनी पहली पारी में 200 रन बना लेता तो भारत भी संकट में होता। लेकिन दोनों टीमों के लिए पिचें समान हैं।”

माइकल वान

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने तो यह तक कह दिया कि, “अगर इस तरह की पिचें तैयार की जाती है तो मेरे पास जवाब है कि यह कैसे काम कर सकता है। टीमों को तीन पारियां खेलने के लिये दो दिन।”