/

युवराज सिंह ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के अपने पहले ही मैच में बनाया टी-20 करियर का ये सबसे शर्मनाक रिकॉर्ड

भारतीय क्रिकेट इतिहास में युवराज सिंह का बहुत बड़ा नाम है। युवराज सिंह को उनके लंबे-लंबे छक्कें लगाने की काबिलियत के कारण ही सिक्कर किंग कहा जाता है। युवराज सिंह वैसे तो हर तरह के फॉर्मेट में खेल लेते हैं लेकिन खासकर जब टी-20 क्रिकेट की बात हो तो युवराज सिंह पर आंख बंध करके भरोसा किया जा सकता है। युवी ने भारतीय टीम ने लिए टी-20 करियर में कई विस्फोटक पारियां खेल फंसे मैचों को बाहर निकाला है।

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

युवराज सिंह ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के अपने पहले ही मैच में बनाया टी-20 करियर का ये सबसे शर्मनाक रिकॉर्ड 1

युवराज सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में कर रहे है पंजाब का प्रतिनिधित्व

युवराज सिंह आतिशी पारियों के लिए जाने जाते हैं लेकिन युवराज सिंह का बल्ला इन दिनों अच्छा नहीं चल पा रहा है। युवराज सिंह भले ही मैदान में कुछ रन भी बना दें लेकिन उनमें पहले जैसे दमखम नजर ही नहीं आ रहा है। इसी तरह की पारी युवराज सिंह के बल्ले से एक बार फिर से देखने को मिली है। युवराज सिंह सिंह इन दिनों भारत की घरेलु टी-20 टूर्नामेंट सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में खेल रहे हैं। युवराज सिंह अपनी घरेलु टीम पंजाब के लिए खेल रहे हैं।

युवराज सिंह ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के अपने पहले ही मैच में बनाया टी-20 करियर का ये सबसे शर्मनाक रिकॉर्ड 2

युवी ने जड़ा अपने टी-20 करियर का दूसरा सबसे धीमा पचासा

युवराज सिंह ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का अपना पहला मैच दिल्ली के खिलाफ खेला लेकिन इस पहले ही मैच में युवराज सिंह के टी-20 करियर में सबसे खराब रिकॉर्ड में दर्ज हो गया। भले ही युवराज सिंह ने शानदार पारी खेलते हुए 50 रन बनाए लेकिन इस पारी के लिए युवराज सिंह ने 40 गेंदो का सामना किया। इस तरह से ये उनके टी-20 करियर की दूसरी सबसे धीमी फिफ्टी हो गई है। युवराज सिंह की बल्लेबाजी के संघर्ष का अनुमान तो इसी बात से लगाया जा सकता है कि उनकी इस धीमी बल्लेबाजी के कारण पंजाब की टीम अपने अंतिम चार ओवरो में 32 रन ही जोड़ सकी।

युवराज सिंह ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के अपने पहले ही मैच में बनाया टी-20 करियर का ये सबसे शर्मनाक रिकॉर्ड 3

युवराज सिंह ने 40 गेंदो में पूरा किया अर्धशतक

युवराज सिंह के बल्ले से इतनी धीमी बल्लेबाजी का ये पहला मौका नहीं है। इससे पहले भी युवी इसी तरह का संघर्ष करते कई बार नजर आए हैं। युवराज सिंह के टी-20 करियर का सबसे धीमा पचासा 41 गेंदो पर है जो उन्होंने इसी टूर्नामेंट के पिछले सीजन में बनाया था। इसके अलावा युवराज सिंह ने आईपीएल में दिल्ली डेयर डेविल्स की ओर से खेलते हुए 2015 में मुंबई इंडियंस के खिलाफ 40 गेंदो में पचासा पूरा किया था।

युवराज सिंह ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के अपने पहले ही मैच में बनाया टी-20 करियर का ये सबसे शर्मनाक रिकॉर्ड 4

पंजाब ने दिल्ली को दी मात

वहीं सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के इस मैच में पंजाब की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मनन वोहरा के 50 गेंदो में 72 रनों की पारी और युवराज सिंह के पचासे की मदद से 170 रनों का स्कोर खड़ा किया जिसके जवाब में दिल्ली ने जबरदस्त लड़ाई की । गौतम गंभीर ने दिल्ली को जीत दिलाने की पूरा कोशिश की लेकिन दिल्ली की टीम आखिर में 2 रनों से हार गई।