अपने देश की क्रिकेट बचाने के लिए जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों ने किया अनोखा

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

अपने देश की क्रिकेट बचाने के लिए जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों ने किया अनोखा प्रयास 

अपने देश की क्रिकेट बचाने के लिए जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों ने किया अनोखा प्रयास

आइसीसी क्रिकेट प्रतियोगिताओं पर बैन किए जाने के बाद, अपने देश की क्रिकेट को बचाने के लिए जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों ने एक बहुत ही अनोखा सा प्रयास किया है। उन्होंने अब फ्री में खेलने का फैसला किया है। जिससे उनका देश का क्रिकेट पर भरोसा बना रहे हैं और वो लगातार क्रिकेट जगत से जुड़े रहे।

जिम्बाब्वे क्रिकट टीम

अगामी होने वाले विश्व टी-20 में क्वालीफायर्स में भाग लेने के लिए वह भारत आने की तैयारी में जुटी हुई है। वही महिला टी-20 क्वालीफायर्स के मैच अगस्त में होंगे,जबकि पुरुषों का क्वालीफायर्स मुकाबला अक्टूबर में होगा।

रिपोर्ट के मुताबिक टीम के एक वरिष्ठ खिलाड़ी ने बताया कि

हम मुफ्त में खेलेंगें। हमें जब तक उम्मीद की कोई किरण नहीं दिखाई देंगी,जब तक हम अपने खेल को खेलना जारी रखेंगे। हमारा अगला मुकाबला क्वालीफायर्स के लिए होगा। जिसमें हम मुफ्त में खेलेंगे।

जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम

वहीं आपकों बता दे कि जिंबाब्वे की पुरुष और महिला सीनियर टीम को पिछले दो महीने से कोई भुगतान भी नहीं किया गया है वही पुरुष टीम को हाल ही में होने वाले नीदरलैंड्स और आयरलैंड दौरे के मैचों की कोई फीस भी नहीं दी गई है।

संविधान का उल्लंघन करने के कारण किया गया था बैन

आइसीसी ने इस महीने जिंबाब्वे क्रिकेट को वैश्विक संस्था के संविधान का उल्लंघन करने के आरोप में उसे निलंबित कर दिया था। टीम को बैन करने के बाद आइसीसी ने कहा था कि हम अपने इस फैसले में  किसी तरह का कोई भी सरकारी हस्तक्षेप को स्वीकार नहीं कर सकते है।

जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम

इस निलबंन के बाद भी जिंबाब्वे की टीम टी-20 जैसी द्विपक्षीय सीरीज में भाग ले सकती है, लेकिन आइसीसी की वित्तीय मदद के बिना उनके लिए मेजबानी करना मुश्किल होगा। भविष्य का दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) के मुताबिक जिंबाब्वे की टीम को अगस्त में अफगानिस्तान और अक्टूबर-नवंबर में वेस्टइंडीज की मेजबानी भी करनी है। अब देखना यह है कि इन सभी मैचों में होने वाले खर्चों को कौन वहन करता है।

बैन लगाने के बाद अधर पर लटक गया था उनका भविष्य

जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम पर अभी कुछ दिन पहले ही बैन लगा दिया गया था। जिसके बाद जिम्बाब्वे टीम के खिलाड़ियों का भविष्य अधर पर लटक गया था।वहीं टीम के बल्लेबाज सोलोमन मायर तो इतना निराश हो गए थे कि उन्होंने क्रिकेट जगत को अलविदा कह दिया था।

Related posts