36 साल से विश्वकप खेलती आ रही इस टीम की उम्मीदों को लगा करारा झटका, विश्वकप 2019 से हुई बाहर 1

इन दिनों जहां एक ओर पीएसएल चल रहा है और आईपीएल का आगाज होने वाला है। वहीं दूसरी तरफ विश्वकप 2019 के लिए टीमों के क्वालीफाइ मैच खेले जा रहे हैं। क्वालीफाई मैच के दौरान इस टीम के साथ अप्रत्याशित घटना घटी। जिसके बाद खिलाड़ी से लेकर वहां के प्रशंसक काफी निराश है।

उन्हें ये मुकाम फिर से हासिल करने के लिए पांच साल का लंबा इंतजार करना पड़ेगा। अगर फ्लैश बैक में नजर डाले तो ये टीम पिछले 36 साल से विश्वकप में शामिल होती रही है। लेकिन इस बार उसके सपनों को गहरा आघात लगा है।

 

यूएई ने चकनाचूर किया ख्वाब

36 साल से विश्वकप खेलती आ रही इस टीम की उम्मीदों को लगा करारा झटका, विश्वकप 2019 से हुई बाहर 2

अगले साल इंग्लैंड और वेल्स में विश्वकप का आयोजन किया जाएगा। लेकिन इस बार के विश्वकप में जिम्बाब्वे की टीम नजर नहीं आएगी। साल  1983 में जब भारत ने विश्वकप जीता था तब उस विश्वकप का हिस्सा जिम्बाब्वे की टीम रही। जिम्बाब्वे का यह सफर लगातार 36 साल से अभी तक लगातार चल रहा था। लेकिन गुरूवार को खेले गए मुकाबले में यूएई की टीम ने कारारी शिकस्त देते हुए जिम्बाब्वे के मंसूबों पर पानी फेर दिया। जीत के बाद यूएई के कप्तान रोहन मुस्तफा ने जिम्बाब्वे के लिए दुख प्रकट करते हुए कहा कि,

”एक टेस्ट टीम को हराना हमारे लिए बड़ी जीत है। कोई हमारे बारे में नहीं जानता था, अब वे सब हमें जानेंगे। जिम्बाब्वे के लिए दुखी हूं, यह खेल है।”

बारिश ने बिगाड़ा खेल

36 साल से विश्वकप खेलती आ रही इस टीम की उम्मीदों को लगा करारा झटका, विश्वकप 2019 से हुई बाहर 3

36 साल से विश्वकप खेलती आ रही इस टीम की उम्मीदों को लगा करारा झटका, विश्वकप 2019 से हुई बाहर 4

टॉस जीतते हुए जिम्बाब्वे ने पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी यूएई की टीम ने 47.5 ओवर में 235 रन बनाए थे। हालांकि मैच के दौरान बारिश ने खलल डाल दिया। जिस वजह से जिम्बाब्वे को 40 ओवर में 230 रनों का लक्ष्य मिला था।

जवाब में उतरी जिम्बाब्वे ने सात विकेट खोते हुए 226 रन ही बना पाई। जिम्बाब्वे के गेंदबाज सिकंदर रजा ने 10 ओवर में 41 रन देकर 3 विकेट अपने नाम किए। जिम्बाब्वे की टीम को डकवर्थ लुईस नियम का खामियाजा उठाना पड़ा। टीम के लिए सर्वाधिक 80 रनों का योगदान विलियम्स ने दिया।

फाइनल के लिए आश्वस्त थे

36 साल से विश्वकप खेलती आ रही इस टीम की उम्मीदों को लगा करारा झटका, विश्वकप 2019 से हुई बाहर 5

जिम्बाब्वे की हार से फैंस लेकर टीम के खिलाड़ी काफी दुखी है। उनकी ये निराशा चेहरे में साफ झलक रही है।  कप्तान ग्रेम क्रीमर ने हार के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया दी है।

उन्होंने कहा कि,

”आज का दिन काफी निराशाजनक रहा। मुझे लग रहा है कि हम सभी अभी तक बेहतरीन खेलते नजर आए हैं। हम लोग लगभग आश्वस्त थे कि हमारी टीम फाइनल में जाएगी। कई लोगों ने यह सोचा भी होगा। भविष्य के लिए हम किसी भी बिंदु पर पक्का नहीं हूं।”

 

Leave a comment