फुटबॉलः भारतीय टीम ने कतर के कतरे पंख,नहीं उड़ने दी ऊंची उड़ान, ड्रा पर ही मैच रोका

Trending News

Blog Post

न्यूज़

फुटबॉलः भारतीय टीम ने कतर के कतरे पंख, नहीं उड़ने दी ऊंची उड़ान, ड्रा पर ही मैच रोका 

फुटबॉलः भारतीय टीम ने कतर के कतरे पंख, नहीं उड़ने दी ऊंची उड़ान, ड्रा पर ही मैच रोका

विदेश सरजमीं पर मैच खेलकर जीत हासिल करने में वह खुशी नहीं मिलती, जितना  उस सरजमीं पर देखने आने वाले दर्शकों से मिले प्यार से मिलती है। यह प्यार नहीं तो और क्या, जो अपने देश की टीम हारने के बाद भी किसी दूसरे देश की टीम पर अपना प्यार लुटा रही हो, कुछ इसी तरह का माहौल था, भारत और ओमान के बीच खेले गए फुटबॉल मैच में।

भारत ने कतर का मैच ड्रा करके रोका रास्ता

फुटबॉल

फीका वर्ल्ड कप के क्वालीफायर मैच के राउंड-2 में भारतीय फुटबॉल टीम ने मंगलवार की देर रात को दोहा में एशियाई चैम्पियन कतर को 0-0 की बराबरी में लाकर, मैच को उसी जगह पर रोक दिया। इस ड्रा हुए मैच के कारण भारत को पहला अंक हासिल हो गया। वहीं आपकों बता दे पिछली बार ओमान के साथ खेले गए मैच में ओमान ने भारत को 1-2 से हरा दिया था।

इस बार फीका वर्ल्ड कप का मैच होगा ओमान में

फुटबॉल

हालांकि आपको बता दे कि इस बार फीका वर्ल्ड कप का मैच कतर में होगा। आप ऐसा भी कह सकते है कि कतर इस बार मेजबान देश बना है। हालांकि यह मैच ड्रा पर रोके जाने के कारण मेजबान टीम को वर्ल्ड रैंकिंग में 62 वां स्थान प्राप्त हुआ है। वहीं दूसरी तरफ भारत की स्थिति बहुत ज्यादा अच्छी नहीं है। वह इस रैंकिक में 103 नंबर पर काबिज है। भारती का अगला मुकाबला 15 अक्टूबर को बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता के सॉल्टलेक स्टेडियम में होगा।

सुनील छेत्री के बिना खेले गए मैच में हासिल की जीत

फुटबॉल

हालांकि आपकों बता दे कि यह मैच सुनील छेत्री के बिना खेला गया था। जिसमें भारत की तरफ से गुरप्रीत ने अच्छा मैच खेला था। जिसके कारण भारत यह मैच ड्रा कराने में जीत हासिल कर पाई। भारत के लिए यह ड्रॉ इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि वह इस साल कतर के खिलाफ नहीं हारने वाला पहला देश बना।

इतना ही नहीं कतर ने ब्राजील, अर्जेंटीना और कोलंबिया जैसी मजबूत टीमों के खिलाफ गोल भी किया, लेकिन स्टार प्लेयर सुनील छेत्री के बिना खेली भारतीय टीम ने उसे गोल नहीं करने दिया।

कतर ने किए थे गोल करने के 27 प्रयास

फुटबॉल

कतर ने मैच में गोल करने के 27 प्रयास किए, लेकिन भारतीय गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू और डिफेंडर्स मजबूती से उसे रोकने में सफल रहे। गुरप्रीत इस मैच में भारत के लिए सबसे बेहतरीन प्लेयर साबित हुए। उन्होंने 11 सीधे शॉट्स को गोलपोस्ट में जाने से रोका।

भारत और कतर के बीच आधिकारिक तौर पर यह दूसरा मुकाबला था। इससे पहले सितंबर 2007 में कतर ने 2010 वर्ल्ड कप के क्वालीफायर में भारतीय टीम को 6-0 से हरा दिया था।

Related posts