आईएसएल-4 : एटीके को हराकर अपनी उम्मीदों को जिंदा रखना चाहेगा मुम्बई

ians / 17 February 2018

कोलकाता, 17 फरवरी; मुम्बई सिटी एफसी को रविवार को सॉल्ट लेक स्टेडियम में मेजबान एटीके से भिड़ना है। मौजूदा चैम्पियन के हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के अगले दौर में पहुंचने की उम्मीद खत्म हो चुकी हैं लेकिन मुम्बई के पास अभी भी मौका है। मुम्बई को हालांकि अब अपने बाकी बचे सभी मैच जीतने होंगे और इस मुहिम की शुरुआत उसे एटीके के खिलाफ ही करनी होगी। इस सीजन में मुम्बई का प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं रहा है। उसने कई उतार-चढ़ाव देखे हैं। एलेक्सजेंडर गुइमारेस की इस टीम के प्रदर्शन में निरंतरता की कमी है लेकिन इसके बावजूद अगर सबकुछ ठीक रहा तो यह अंतिम-4 में जगह बना सकती है। यह टीम 14 मैचों से 17 अंक लेकर 10 टीमों की तालिका में अभी सातवें स्थान पर है। आगे के लिए मुम्बई को अपने अच्छे खेल के अलावा दूसरी टीमों के खराब प्रदर्शन के लिए प्रार्थना करनी होगी।

दूसरी ओर, दो बार के चैम्पियन के लिए आगे का रास्ता बंद हो चुका है और अब उसका एकमात्र लक्ष्य बाकी बचे मैच जीतते हुए तालिका में बेहतर स्थान पाना होगा।

मुम्बई के मुख्य कोच गुइमारेस ने इस मैच से पहले आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा, “हमारे आगे जाने की उम्मीदें अभी भी जिंदा हैं। समीकरण के हिसाब से हम अभी भी दौड़ में हैं और हम वहां पहुंचने की हरसम्भव कोशिश करेंगे। कल का मैच हमारे लिए काफी अहम है। पूरी टीम काफी आशान्वित है।”

कोस्टा रिका निवासी गुइमारेस ने आशा जताई है कि उनकी टीम अंतिम-4 की ओर से सकारात्मक कदम बढ़ाएगी लेकिन उन्होंने साथ ही साथ आगे आने वाली चुनौतियों को लेकर भी अपने खिलाड़ियों को आगाह किया।

गुइमारेस ने कहा, “जब हम एक ऐसी टीम के खिलाफ खेल रहे हों, जिसके पास खोने के लिए कुछ नहीं तो फिर हमारे लिए सावधान रहने की जरूरत होगी क्योंकि ऐसे हालात में इस तरह की टीमें अच्छा खेलती हैं।”

बीते साल केरला ब्लास्टर्स को हराकर दूसरी बार आईएसएल खिताब अपने नाम करने वाली एटीके की टीम का इस सीजन में प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है। उसने बीते पांचों से जीत नहीं हासिल की है। उसे अधिकतम 15 में से सिर्फ एक अंक मिला है। मुम्बई को अपने अंतिम मैच में एफसी पुणे सिटी के हाथों 0-2 से हार मिली थी।

मुम्बई के कोच ने कहा, “हम अच्छा खेले हैँ लेकिन दुर्भाग्य से गलतियों ने हमें सजा दी है। मुझे अपने खिलाड़ियों पर गर्व है। हमने कई अच्छे मुकाबले खेले हैं। कभी-कभी फुटबाल अच्छे खेल का ईनाम आपको नहीं देता है।”

एटीके के अंतरिम कोच एश्ले वेस्टवुड को परिणाम को लेकर अधिक चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि उनकी टीम आगे जाने के लिहाज से अंक नहीं हासिल कर सकी है। एश्ले को हालांकि उम्मीद है कि उनकी टीम सम्मान के साथ इस सीजन का समापन करेगी।

एश्ले ने कहा, “हम नहीं समझते कि यह कठिन है। अगर आप एक फुटबालर हैं तो आप जीतना चाहेंगे और मेरे लिए इतना काफी होगा। अगर मेरे खिलाड़ी ऐसा नहीं कर सकते तो उन्हें टीम में रहने का कोई हक नहीं और मेरा काम यही सुनिश्चित करना है।”