आईएसएल-5 : 10 खिलाड़ियों के साथ नार्थईस्ट ने ब्लास्टर्स को बराबरी पर रोका

Trending News

Blog Post

फुटबॉल

आईएसएल-5 : 10 खिलाड़ियों के साथ नार्थईस्ट ने ब्लास्टर्स को बराबरी पर रोका 

आईएसएल-5 : 10 खिलाड़ियों के साथ नार्थईस्ट ने ब्लास्टर्स को बराबरी पर रोका

कोच्चि, 1 मार्च: हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन के लिए पहले ही क्वालीफाई कर चुकी नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी ने शुक्रवार को मेजबान केरला ब्लास्टर्स को गोलरहित बराबरी पर रोक दिया। वहीं दो बार की उप-विजेता केरला लीग का अंत जीत के साथ करने में असफल रही। अंक तालिका में तीसरे स्थान पर पहुंचने के लिए नार्थईस्ट को इस मैच में केरला को हर हाल में हराना था, लेकिन 26वें मिनट में अपने एक खिलाड़ी को लाल कार्ड मिलने के बाद 10 खिलाड़ियों के साथ खेलने को मजबूर इस टीम को पूरी रणनीति बदलनी पड़ी। बावजूद इसके वह मेजबान टीम को गोलरहित बराबरी पर रोकने में सफल रही।

दोनों टीमों ने इस सीजन का अपना आठवां ड्रा खेला। इस मैच से मिले एक अंक को लेकर नार्थईस्ट ने 18 मैचों से 29 अंकों के साथ लीग स्तर का अपना सफर समाप्त किया। प्लेऑफ में नार्थईस्ट का सामना बेंगलुरू एफसी से होना तय हो गया है। दूसरी ओर, केरला ने 18 मैचों से 15 अंकों के साथ अपना सफर समाप्त किया।

घर में जीत के साथ लीग का समापन करने को बेताब मेजबान टीम ने पहले हाफ में अपना दमखम दिखाया और इस हाफ में हावी रही। इस हाफ में कोई गोल नहीं हो सका। 23वें मिनट में गुरविंदर सिंह को लाल कार्ड दिखाए जाने के कारण पहले से मेहमान टीम बैकफुट पर आ गई। वह असमय बदलाव को मजबूर हुई।

मार्को पोप्लातनिक को बाक्स के छोर पर गलत तरीके से टैकल करने के कारण गुरविंदर को लाल कार्ड मिला। पोप्लातनिक को ऐसे समय में टैकल किया गया, जब वह गोलकीपर पवन कुमार के साथ वन-2-वन थे। इसी कारण गुरविंदर को रेफरी ने सीधे लाल कार्ड दिया।

इसके बाद मेहमान टीम 10 खिलाड़ियों के साथ खेलने पर मजबूर हुई। अपना संतुलन बनाए रखने के लिए उसने 27वें मिनट में गिरिक खोसला को बाहर कर लालरेम्पुइया फेनाई को अंदर किया।

नार्थईस्ट युनाइटेड ने मैदान पर अपना संयम बनाए रखा और कभी किस्मत और कभी अपने गोलकीपर पवन कुमार के अच्छे सेव के कारण केरला को गोल नहीं करने दिया। वैसे मेजबान टीम ने 34वें और 45वें मिनट में काफी करीबी मौके बनाए थे, लेकिन उसे सफलता नहीं मिल सकी।

10 खिलाड़ियों के साथ खेल रही नार्थईस्ट की टीम दूसरे हाफ में बदली हुई मानसिकता के साथ उतरी और 47वें मिनट में उसने एक जोरदार हमला किया, लेकिन केरला के गोलकीपर धीरज ने उसे नाकाम कर दिया।

केरला ने हालांकि 58वें मिनट में पलटवार किया। स्लाविसा स्टोजानोविक ने अच्छा प्रयास किया, लेकिन पवन ने उसे नाकाम कर दिया। यहां नार्थईस्ट एक बड़े खतरे से उबर गया। पवन को चोट लगी। इलाज के बाद उन्होंने फिर गोलपोस्ट की कमान सम्भाल ली। इसी मिनट में केरला ने सिरिल काली को बाहर कर मोहम्मद राकिप को अंदर किया।

64वें मिनट में नार्थईस्ट ने प्रयास किया, लेकिन अनस इदाथोदिका ने उसे नाकाम कर दिया। 65वें मिनट में मेजबान टीम का एक और प्रयास नाकाम कर अपनी टीम को पिछड़ने से बचाया।

मेहमान टीम ने 72वें मिनट में पवन को मैदान के बाहर कर गुरमीत सिंह को गोलपोस्ट का जिम्मा सौंपा।

केरला की टीम ने 87वें और 89वें मिनट में दो जोरदार हमले किए, लेकिन उसे निराशा हाथ लगी। बोडो ने मैदान पर आते ही जलवा दिखाने की कोशिश की, लेकिन गुरमीत ने वही किया जो अब तक पवन कर रहे थे। इंजुरी टाइम में मोहम्मद राकिप के एक क्रास को पंच करने के प्रयास में गुरमीत बुरी तरह चोटिल हो गए, लेकिन उन्होंने अपनी टीम का क्लीन शीट बरकरार रखी।

Related posts