फीफा विश्वकप 2018: इस वजह से भारतीय टीम को नहीं मिलता है फीफा विश्वकप खेलने की अनुमति 1

21वें फीफा वर्ल्ड कप का आगाज धूम-धाम के साथ हो चुका है. रसिया में खेले जा रहे इस फुटबॉल के महाकुंभ का का आनंद फुटबॉल प्रेमी जमकर उठा रहे हैं.  32 देशों की टीमें इस ख़िताब को जीतने के लिए मैदान में जोर लगा रही हैं. मगर अंत में फुटबॉल का बादशाह तो वही    बनेगा जिसके हांथ में ट्रॉफी होगी.

फुटबॉल पूरी दुनिया में पसंद किया जाने वाला खेल है. बड़ी संख्या में इसके प्रशंसक भारत में भी मौजूद हैं. लेकिन भारतीय फुटबॉल प्रेमियों के लिए सबसे बड़ी निराशा वाली बात ये है कि उन्हें आज तक फीफा विश्व कप में भारतीय टीम को समर्थन करने का अवसर नही मिल पाया.

भारतीय फुटबॉल टीम लगातार इस विश्वकप के लिए क्वालीफाई करने में फेल हो रही है. हालांकि भारतीय फुटबॉल प्रेमियों के लिए एक बार खुशियों ने दस्तक दी थी. भारतीय टीम ने 1950 के फीफा विश्व कप के लिए क्वालीफाई कर लिया था. मगर उस विश्वकप में खेलने के लिए खुद भारत ने ही मना कर दिया था.

इस वजह से क्वालीफाई करने के बाद भी नही खेल पाया था भारत 

फीफा विश्वकप 2018: इस वजह से भारतीय टीम को नहीं मिलता है फीफा विश्वकप खेलने की अनुमति 2

फीफा विश्वकप 2018: इस वजह से भारतीय टीम को नहीं मिलता है फीफा विश्वकप खेलने की अनुमति 3

ऐसा कहा जाता है कि 1950 में जब भारतीय फुटबॉल टीम ने फीफा विश्व कप के लिए क्वालीफाई किया था तो ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन ने अपना नाम इससे वापस ले लिया था. दरअसल, इसकी वजह ये थी कि भारतीय फुटबॉल खिलाड़ियों के पास पहनने के लिए जूते ही नही थे. वह उस समय नंगे पैर ही फुटबॉल खेला करते थे. जोकि फीफा के नियमों के खिलाफ भी था. वहीं ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन को ये भी डर था कि प्रोफेशनल टीमों के खिलाफ भारत को बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ेगा. इससे उसको 1948 लंदन ओलंपिक में मिली ख्याति भी मिट्टी में मिल जाएगी.

फीफा विश्वकप 2018: इस वजह से भारतीय टीम को नहीं मिलता है फीफा विश्वकप खेलने की अनुमति 4

इसके बाद भारत को 1986 में वर्ल्डकप क्वालीफाई राउंड खेलने का मौका मिला था. मगर एशियन क्वालीफाइंग ग्रुप में भारत को हार का सामना करना पड़ा और वह क्वालीफाई करने से बाहर हो गयी थी. तब से लेकर आज तक भारत फीफा विश्व कप के लिए क्वालीफाई राउंड तक ही नही पहुंच पा रहा है.

Leave a comment