VIDEO: हार्दिक पांड्या ने तोड़ी धोनी की बरसों पुरानी प्रथा, सीरीज जीतने के बाद इन्हें थमाई ट्रॉफी
VIDEO: हार्दिक पांड्या ने तोड़ी धोनी की बरसों पुरानी प्रथा, सीरीज जीतने के बाद इन्हें थमाई ट्रॉफी

भारतीय पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में बरसों से चली आ रही प्रथा को हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने हाल ही में तोड़ दिया है। दरअसल वेस्टइंडीज और भारत के बीच खेली गई पांच मैचों टी-20 सीरीज में टीम इंडिया ने 4-1 से सीरीज पर कब्जा करते हुए एकतरफा जीत हासिल की।

इस सीरीज के पांचवे मुकाबले में जहां हार्दिक (Hardik Pandya) को टीम की कमान सौंपी गई, तो वहीं उन्होंने शानदार कप्तानी करते हुए भारत को 88 रनों से जीत दिलाई। इस बीच उन्होंने पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की एक पुरानी प्रथा को तोड़ दिया है। आइये जानते है इस बारे में विस्तार से…

हार्दिक पांड्या ने तोड़ी महेंद्र सिंह धोनी की परंपरा

Hardik Pandya ने तोड़ी महेंद्र सिंह धोनी की परंपरा
Hardik Pandya ने तोड़ी महेंद्र सिंह धोनी की परंपरा

दरअसल टीम इंडिया के हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने टीम इंडिया की तरफ से पांचवे टी-20 मैच में कप्तानी करते हुए भारत को 88 रनों से शानदार जीत दिलाई। बता दें मैच के बाद हार्दिक को ट्रॉफी सौंपी गई। वहीं इस दौरान हार्दिक ने धोनी के एक रिकॉर्ड या कहें कि प्रथा को तोड़ दिया, जो महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने शुरू की थी।

बता दें अक्सर धोनी जीत के बाद किसी युवा या डेब्यू करने वाले प्लेयर को ट्रॉफी सौंपते थे, उनकी इस ये प्रथा विराट कोहली से  लेकर रोहित शर्मा तक सभी ने आगे बढ़ाया। लेकिन इस बार पांड्या ने कुछ अलग करने के चलते इस प्रथा को तोड़ दिया। हालांकि जिस स्टाफ मेंबर को ये ट्रॉफी पांड्या ने सौंपी था, उस व्यक्ति के नाम का खुलासा नहीं हो सका है।

हार्दिक की कप्तानी में टीम इंडिया को मिली शानदार जीत

Hardik Pandya की कप्तानी में टीम इंडिया को मिली शानदार जीत
Hardik Pandya की कप्तानी में टीम इंडिया को मिली शानदार जीत

दरअसल टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज को पांचवें और आखिरी टी20 मुकाबले में 88 रनों से रौंदकर सीरीज 4-1 से अपने नाम की। भारत ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए 7 विकेट पर 188 रनों का स्कोर बनाया और फिर वेस्टइंडीज को 15.4 ओवर में 100 रन पर ढेर कर दिया।बता दें भारत की ओर से रवि बिश्नोई ने 2.4 ओवर में 16 रन देकर चार विकेट चटकाए। वहीं, अक्षर पटेल और कुलदीप यादव ने तीन-तीन विकेट झटके।