Happiness in Kashmir by sending India's Parsac Silat Team for Asian Games

नयी दिल्ली, 8जुलाई: भारत में शायद कम ही लोगों को पेनसाक सिलाट खेल की जानकारी होगी लेकिन देश के एशियाई खेलों के दल में पेनसाक सिलाट टीम को शामिल करने के साथ यह खेल चर्चाओं में है और खासकर एक व्यक्ति के लिए यह घटनाक्रम काफी उत्साहजनक है।

श्रीनगर के रहने वाले मोहम्मद इकबाल इंडोनेशिया के इस मार्शल आर्ट्स खेल के भारत के राष्ट्रीय कोच हैं।

इकबाल ने पीटीआई से कहा, ‘‘मेरे बच्चों (राष्ट्रीय खिलाड़ी) को हर कहीं से फोन कॉल आ रहे हैं। उन्होंने मुझसे पूछा कि यह खबर सकारात्मक है या नकारात्मक। मैंने उनसे कहा कि यह अच्छा है। लोग अब हमारे खेल के बारे में जानेंगे।’’ 

एशियाई खेलों के लिए भारत की पेनसाक सिलाट टीम भेजने से कश्मीर में खुशी 1

उन्होंने कहा, ‘‘खेल मंत्रालय ने हमारे नतीजे को ध्यान में रखते हुए हमें एशियाई खेलों में हिस्सा लेने का मौका दिया। हम उनका भरोसा नहीं तोड़ना चाहते, हम अच्छा प्रदर्शन कर भारत के लिए पदक जीतना चाहते हैं ताकि लोग हमारे बारे में जानें और याद रखें कि खिलाड़ियों ने इस खेल में पदक जीते।’’

इकबाल ने कश्मीर में खेल के असर को लेकर कहा, ‘‘कश्मीर इतने सालों से संघर्षग्रस्त रहा है। खेल एक ऐसा माध्यम है जो बच्चों को हर चीज के लिए तैयार कर सकता है और जम्मू-कश्मीर के बच्चे मार्शल आर्ट्स को तरजीह देते हैं।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘हम क्रिकेट के साथ तुलना नहीं कर सकते लेकिन राज्य में मार्शल आर्ट्स फुटबॉल से ज्यादा लोकप्रिय है।’’ 

Leave a comment