इंडिया ओपन मुक्केबाजी में भारत ने जीते 8 स्वर्ण

Trending News

Blog Post

मोर

इंडिया ओपन मुक्केबाजी में भारत ने जीते 8 स्वर्ण 

इंडिया ओपन मुक्केबाजी में भारत ने जीते 8 स्वर्ण

नई दिल्ली, 2 फरवरी; भारत ने स्पाइजेट इंडिया ओपन अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजी टूर्नामेंट का समापन आठ पदकों के साथ किया। राष्ट्रीय राजधानी के त्यागराज स्टेडियम में खेले गए इस टूर्नामेंट में भारत की मैरी कॉम, संजीत, मनीष कौशिक, पव्लिओ बसुमतारी, लोवलिना बोगोहेन, पिंकी, मनीषा और अमित ने स्वर्ण पदक अपने नाम किए। उज्बेकिस्तान और क्यूबा ने मिडिल और हैवीवेट कटेगरी में अपने जलवा दिखाते हुए क्रमश: पांच और चार स्वर्ण पदक अपने नाम किए।

पांच बार की विश्व विजेता मैरी कॉम ने लाइट-फ्लाई फाइनल में फीलीपींस की जोसी गाबुका को 4-1 से मात देते हुए सोने का तमगा हासिल किया। उन्होंने मुकाबले की शुरुआत सावधानी से की और अपने दमदार पंचों तथा उर्जा को फाइनल राउंड तक के लिए बचा कर रखा। गाबुको को मात देने के लिए उन्होंने अपने अनुभव का बखूबी इस्तेमाल किया।

भारत के 18 मुक्केबाज 18 कार्ड-फाइनल में खेल रहे थे। असम की पेलाओ और लवलिना ने इस टूर्नामेंट में साबित किया है कि वह आने वाले दिनों की स्टार हैं।

पेलाओ ने थाईलैंड की सुडापोर्न सीसोंडी को लाइट वेल्टर कटेगरी में 3-2 से मात दी। वहीं लवलिना ने वेल्टर कटेगरी में पूजा को आसानी से हराया।

भारत को हालांकि लाइट वेट कटेगरी में अप्रत्याशित हार का सामना करना पड़ा। इस वर्ग में भारत की सरिता देवी को फिनलैंड की मारजुटा मीर पोटकोनान ने मात दी।

पुरुषों में संजीत ने हैवीवेट में भारत की जीत के सिलसिले को चालू किया। उन्होंने उज्बेकिस्तान के संजार टुरसुनोव को मात दी।

भारत के लिए फाइनल में दूसरी हार मिडिल वेट कटेगरी में आई जहां कैमरून की विरे इसिआने कोल्टाइड ने स्विटी बोरा को आसानी से मात देते हुए स्वर्ण अपने नाम किया।

उज्बेकिस्तान के बोबो-उस्मोन बाटुरोव ने वेल्टर वेट कटेगरी में भारत के दिनेश को मात दी। सुबह के सत्र में अपना पहला मुकाबला हारने वाले क्यूबा के डेविड गुइटेरेज ने भारत के देव्यांशु जायसवाल को 4-2 से मात दी। सुबह क्यूबा के इग्लेसियास इस्ट्राडा उज्बेकिस्तान के इजरायल माडिरमोव के सामने पस्त हो गए थे।

शाम के सत्र में भारत के अनवर सलमान शेख ने भारत की झोली में एक और स्वर्ण पदक डाला। उन्होंने उज्बेकिस्तान के खुडोयानजार फायजोव को मात दी। दोनों मुक्केबाजों ने एक दूसरे पर जमकर पंच बरसाए। हालांकि अनवर के पंच ज्यादा सटीक रहे और उन्हें जीत मिली।

Related posts

Leave a Reply