रियो ओलंपिक 2016: सुशील कुमार ने पीएम मोदी से माँगा सहयोग

/ 13 May 2016

दो बार ओलंपिक पदक जीतने वाले पहलवान सुशील कुमार और वर्ल्ड चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर ओलंपिक का टिकट कटाने वाले नरसिंह यादव में से कौन रियो ओलंपिक जाएगा। इसको लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। दोनों के बीच रियो ओलंपिक में जाने के लिए 74 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग में ट्रायल कराने या न कराने का विवाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंच गया है। सुशील कुमार ने इस मामले में पहले केन्द्रीय खेल मंत्री सर्वानंद सोनोवाल को चिट्ठी लिखी और फिर पीएम मोदी को भी पत्र लिखा।

सुशील ने ट्रायल कराने को लेकर खेल मंत्री सोनोवाल को पत्र लिखा, जो खुद यह कह चुके हैं कि उनका मंत्रालय भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के कामकाज में कोई हस्तक्षेप नहीं करेगा। इससे पहले डब्ल्यूएफआई के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने कहा था, ‘यह मामला अभी सुलझने वाला नहीं है और मुझे लगता है कि यह प्रधानमंत्री तक जा सकता है। आगे जैसी परिस्थिति आती है और मुझे जो अधिकार प्राप्त हैं, उसे देखकर हम देशहित में ही कोई फैसला करेंगे।’

हालांकि डब्ल्यूएफआई के अध्यक्ष ने गुरुवार को साफ शब्दों में कहा था कि जिस पहलवान ने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया है, वही ओलंपिक में जाएगा।

गौरतलब है कि कुश्ती महासंघ की तरफ से भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) को रियो ओलंपिक के लिए पहलवानों की जो लिस्ट भेजी गई है, उसमें 74 किग्रा वर्ग में सुशील का नाम नहीं है और बृजभूषण के बयान के बाद सुशील के लिए ओलंपिक रास्ते बंद माने जा रहे हैं। अब देखना है कि पीएम मोदी इस मामले में कोई हस्तक्षेप करते हैं या नहीं।

 

Related Topics