अपूर्वी ने साधा कांस्य पर निशाना खेलेंगी ओलम्पिक

राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जितने वाली भारत की अपूर्वी चंदेला ने कोरिया के चांगवोन में चल रहे आईएसएसएफ विश्व कप की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में कांस्य पदक जीता है, इसके साथ ही उन्होंने अगले ओलम्पिक के लिये अपना टिकट कटा लिया है.

अपूर्वी ने फाइनल्स में 185.6 का स्कोर किया. क्रोएशिया की पेसिच जेजाना को स्वर्ण और सर्बिया की इवाना एम को रजत पदक मिलापेसिच ने 209.1 जबकि इवाना ने 207.7 का स्कोर किया.

अपूर्वी ने कहा:

“मै इस विश्वकप का बहुत दिनों से इंतजार कर रही थी, और आज मुझे यहाँ पदक जीतकर ख़ुशी हो रही है, सबसे ज्यादा ख़ुशी देश के लिये ओलम्पिक में खेलने को लेकर है.”

उन्होंने आगे कहा:

“इस टूर्नामेंट में जित हासिल कर के मुझे काफी आत्मविश्वास मिला है, जो मुझे रियो ओलम्पिक की तैयारी में सहायक होगा, इस साल में ज्यादा से ज्यादा बार पोडियम फिनिस करने की कोशिश करूंगी.”

भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ ने अपूर्वी को इस उपलब्धि को हासिल करने के लिये बधाई दी है.

एनआरएआई के अध्यक्ष रनिन्द्र सिंह ने कहा-

‘‘हमें खुशी है, कि अपूर्वी ने भारत के लिये दूसरा ओलंपिक कोटा स्थान जीता. उन्होंने भारतीय टीम की अगुवाई की. आज मुझे2014 राष्ट्रमंडल खेलों का फाइनल याद आ रहा है, जब अपूर्वी केा चोट लगी थी, और दर्द से कराहने के बावजूद भी उसने लगभग परफेक्ट स्कोर किया था.’’

उन्होंने कहा:

“हमे इस साहसिक कार्य से उसके मानसिक और शारीरिक ताकत कला पता चलता है, जो अब धीरे-धीरे रंग ला रही है. हम सभी उसे रियो के साथ-साथ भविष्य में होने वाले टूर्नामेंट के लिये तहे दिल से शुभकामनाये देते है.”

इससे पहले जीतू राय ने पिछले साल स्पेन के ग्रेनाडा में “वि चैम्पियनशिप” में रजत पदक जीतकर भारत के लिये पहला ओलंपिक कोटा स्थान हासिल किया था.

ओलम्पिक में हर देश को निशानेबाजी की 15 स्पर्धाओं में अधिकतम 30 कोटा स्थान मिल सकते हैं, मतलब हर स्पर्धा के लिये दो कोटा स्थान सुरक्षित हैं.

 

 

 

Related Topics