विजेंदर सिंह को 2-3 राउंड में ही नॉक आउट करने के लिए घर में ही 10 घंटे अभ्यास कर रहा है यह चायनीज मुक्केबाज 1
AFP PHOTO / INDRANIL MUKHERJEE

डब्ल्यूबीओ एशिया पैसेफिक मिडिलवेट चैंपियन भारतीय बॉक्सर विजेंदर सिंह 5 अगस्त को एनएससीआई मुंबई में चीन के नंबर एक बॉक्सर मैमतअली के सामने होगे. दोनों दिग्गज खिलाड़ियों के बीच यह मुकाबला दोहरे खिताब के लिये होगा.

विजेंदर सिंह को हारने के लिए तैयार मैमतअली
विजेंदर सिंह को 2-3 राउंड में ही नॉक आउट करने के लिए घर में ही 10 घंटे अभ्यास कर रहा है यह चायनीज मुक्केबाज 2
विश्व के सबसे प्रसिद्द बॉक्सरों में शुमार चीन के नंबर एक बॉक्सर मैमत अली को भरोसा है, कि वह विजेंदर को हरा देगे.

मैमत ने कहा, “मैं प्रत्येक मुकाबले को काफ़ी गंभीरता से लेता हूँ और हमेशा खुद को उस स्थिति में पहुंचाने की कोशिश करता हूँ. विजेंदर सिंह उन चिरप्रतिद्वंदी में हैं जिसे मैं हरा दूंगा. मैं विजेंदर के चालों (मूव्स) को समझता हूँ और मैं उसी को ध्यान में रखकर तैयारी कर रहा हूँ.”

आगे मैमतअली ने कहा, “मैं प्रत्येक दिन 10 घंटे अभ्यास कर रहा हूँ ताकि विजेंदर को पहले 2 या 3 राउंड में ही नाकआउट कर दूं. विजेंदर अपने पेशेवर मुक्केबाजी करियर में पहली बार 5 अगस्त को सबसे कड़े प्रतिद्वंद्वी से  भिड़ेंगे. विजेंदर ने 2015 में पदार्पण के बाद से एक भी मैच नहीं हारा हैं. भारतीय मुक्केबाज विजेंदर को हराने के लिये मैंने अपनी रणनीति तैयार कर ली है.”

विजेंदर पर करूँगा मुक्कों की बारिश
विजेंदर सिंह को 2-3 राउंड में ही नॉक आउट करने के लिए घर में ही 10 घंटे अभ्यास कर रहा है यह चायनीज मुक्केबाज 3
5 अगस्त को विजेंदर के साथ होने वाले मुक़ाबले को लेकर मैमतअली काफ़ी उत्साहित है, उन्हें लगता है, कि विजेंदर को हराने में उन्हें कोई परेशानी नहीं होगी.
मैमतअली ने कहा, “मेरी टीम ने विजेंदर के सभी मुकाबले देखे हैं. अब इस चरण में केवल मुझे और मेरे कोच को ही अभ्यास कार्यक्रम का पता है. विजेंदर सिंह पर जब मेरे मुक्कों की बारिश होगी तो वह हैरान रह जाएगा. विजेंदर सोच रहा है, कि मैं बच्चा हूँ लेकिन उसे नहीं पता कि मैं कौन हूँ.”

विजेंदर ने पेशेवर मुक्केबाजी में पदार्पण के बाद 7 नाकआउट जीत दर्ज की है. दूसरी ओर मैमतअली भी अब तक एक भी मैच नहीं हारे है, लेकिन उनके नाम पर कम नाकआउट जीत दर्ज हैं.

दोनों के नाम अजय रहने रिकॉर्ड
विजेंदर सिंह को 2-3 राउंड में ही नॉक आउट करने के लिए घर में ही 10 घंटे अभ्यास कर रहा है यह चायनीज मुक्केबाज 4
पेशेवर बॉक्सिंग में क़दम रखने के बाद से विजेंदर सिंह और मैमतअली एक भी मैच नहीं हारे हैं.

मैमतअली ने कहा, “हम दोनों के नाम पर पदार्पण के बाद कोई मुकाबला नहीं हारने का रिकार्ड है. नाकआउट मुक़ाबलो में भी हम दोनों का रिकार्ड अच्छा है. दबाव विजेंदर पर होना चाहिए. विजेंदर को भारत में मुक्केबाजी का किंग माना जाता है, इसलिए उसने किंग की तरह शुरूआत की है, लेकिन इस बार मेरी चलेगी.”

इन सब के बीच ओलंपिक के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाले अखिल कुमार और जितेंद्र कुमार के साथ-साथ डब्ल्यूबीसी एशिया वेल्टरवेट चैंपियन नीरज गोयत, कुलदीप ढांडा, प्रदीप खरेरा और धर्मेंद्र ग्रेवाल के भी मुकाबले होंगे.

I am Gautam Kumar a Cricket Adict, Always Willing to Write Cricket Article. Virat and Rohit are My Favourite Indian Player.