अर्जुन आवार्डः ट्रक चालक के पुत्र प्रमोद भागवत को मिलेगा देश का सर्वश्रेष्ट आवार्ड

Trending News

Blog Post

न्यूज़

अर्जुन आवार्ड : ट्रक चालक के पुत्र प्रमोद भागवत को मिलेगा देश का सर्वश्रेष्ट आवार्ड 

अर्जुन आवार्ड : ट्रक चालक के पुत्र प्रमोद भागवत को मिलेगा देश का सर्वश्रेष्ट आवार्ड

कहते हैं अगर कुछ कर दिखाने का जज्बा हो तो सामने आने वाला बड़े से बड़े पहाड़ अपने आप ढह जाता हैं, काले धने बादल अपने आप छंट जाते हैं, हवाएं अपना रुख बदल देती हैं। बस आपमें कुछ कर दिखाने का जज्बा हो। कुछ इसी जज्बें को सच साबित किया हैं बरगढ़ जिले के अत्ताबिरा निवासी पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी प्रमोद भगत ने।

अर्जुन आवार्ड के लिए नामित किया गया नाम

प्रमोद भागवत

इनकी इसी प्रतिभा को देखते हुए सरकार द्वारा इन्हें अर्जुन आवार्ड देने के लिए नामित किया गया है। उन्हें यह पुरस्कार खेल दिवस के दिन दिया जाएगा। हालांकि आपकों बता दे कि इनकी शुरुआती जीवन बहुत मुश्किलों भरा रहा। इनके पिता करीब चार दशक पहले बिहार से अत्ताबिरा आकर बसे प्रमोद के पिता कैलाश भगत पेशे से ट्रक चालक थे और पत्नी कुसुम देवी समेत दो बेटे और चार बेटियों के साथ रहते थे। आठ सदस्यों का यह परिवार किसी तरह गुजर बसर कर रहा था। कैलाश के दो बेटों में शेखर बड़ा और प्रमोद छोटा है। प्रमोद जब चार साल का था तभी एक पैर पोलियोग्रस्त हो गया। माता-पिता ने काफी इलाज कराया, लेकिन विशेष लाभ नहीं हुआ।

पिता के निधन के बाद बड़े भाई की पान दुकान में हाथ बंटाया

प्रमोद भागवत

इतने मुश्किलों भरे जीवन के बीच एक मुश्किल भरा पहाड़ और टूट पड़ा इनपर, इनके पिता की असमय मृत्यु हो गई। जिसके बाद परिवार का सारा बोझ इनके बड़े भाई के ऊपर आ गया। शेखर ने पैसों का जुगाड़ कर पान की एक दुकान खोल ली। प्रमोद भी अपने बड़े भाई के काम में हाथ बंटाने लगे। पान दुकान की सीमित कमाई से ही प्रमोद ने स्नातक शिक्षा ग्रहण करने के बाद हीराकुद स्थित आइटीआइ से डिप्लोमा किया। पान दुकान के साथ वह पंखों की मरम्मत भी करने लगे।

पढ़ाई के साथ बैडमिंटन खेलने का भी शौक था

बैडमिंटन

प्रमोद भागवत को बचपन से पढ़ाई के साथ बैडमिंटन खेलने का भी शौक था। अपने काम से समय निकाल कर वह बैडमिंटन भी खेलते। धूप-बारिश जब खेल में बाधक बन जाती, तो वह अत्ताबिरा स्थित आरएमसी के गोदाम में अभ्यास करने लगते थे। उन्होंने वर्ष 2002 से विधिवत बैडमिंटन खेलना शुरू किया।

वर्ष 2015 में पैरा बैडमिंटन व‌र्ल्ड चैंपियनशिप के डब्ल्स में जीता स्वर्ण

प्रमोद भागवत

वर्ष 2015 में इंग्लैड में आयोजित बीडब्ल्यूएफ पैरा बैडमिंटन व‌र्ल्ड चैंपियनशिप के डब्लस में स्वर्ण एव सिंगल में रजत पदक जीता। साल 2016 में बीजिंग में आयोजित बीडब्ल्यूएफ एशियन पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप के सिंगल एवं डब्लस में उन्होंने कांस्य पदक जीता। वर्ष 2017 में कोरिया में आयोजित बीडब्ल्यूएफ व‌र्ल्ड पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप में कांस्य पदक हासिल किया। इसी के साथ उन्होंने पूरे देश का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। अब उनका लक्ष्य वर्ष 2020 के ओलंपिक में भाग लेने व स्विटजरलैंड में आयोजित व‌र्ल्ड पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतना है।

Related posts