बैडमिंटन : विश्व चैंपियनशिप का मुकाबला आज से, भारत के कई धुरधंर होगें

Trending News

Blog Post

न्यूज़

बैडमिंटन : विश्व चैंपियनशिप का मुकाबला आज से, भारत के कई धुरधंर होगें आमने-सामने 

बैडमिंटन : विश्व चैंपियनशिप का मुकाबला आज से, भारत के कई धुरधंर होगें आमने-सामने

बीडब्ल्यूएफ विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप-2019 का आगाज आज से स्विस शहर बासेल में शुरू हो रहा है। भारत के लिए इस साल सायना नेहवाल, पीवी सिंधु और किदाम्बी श्रीकांत अहम किरदार निभाते नजर आएंगे। सायना और सिंधु ने विश्व चैम्पियनशिप में अभी तक केवल रजत पदक ही जीते हैं, बात अगर स्वर्ण पदक की जाए तो उससे अभी तक हमारे देश के खिलाड़ी मेहरुम है। जिस कारण इन खिलाड़ियों से यह उम्मीद की जा रही है कि शायद इस बार स्वर्ण पदक का सूखा खत्म हो जाए।

बैडमिंटन : विश्व चैंपियनशिप का मुकाबला आज से, भारत के कई धुरधंर होगें आमने-सामने 1

लगातार हार का सामना कर रहे हैं खिलाड़ी

बैटमिंटन

हालांकि आपकों बता दें कि यह साल भारतीय बैडमिंटन प्लेयरों के लिए कोई अच्छा साल नहीं रहा है। इस साल में भारत की तरफ से कोई भी खिलाड़ी विश्व पटल में कोई बड़ा खिताब नहीं जीत सका है। भारत के स्टार खिलाड़ी सायना, सिंधु और श्रीकांत ने भारत को बैडमिंटन की महाशक्ति बनने में मदद की है, लेकिन ये खिलाड़ी विश्व पटल पर कोई बड़ा खिताब नहीं जीत सके हैं।

बैटमिंटन

सायना और सिंधु एक-एक मौके पर विश्व चैम्पियनशिप के फाइनल में हार चुकी हैं, जबकि इन तीनों में से कोई भी खिलाड़ी हाल के वर्षों में विश्व चैम्पियनशिप के अलावा ओलंपिक, एशियाई खेल और आल इंग्लैंड चैम्पियनशिप में गोल्ड नहीं जीत सका है।

पीवी सिंधु में दिख रही हैं आशा की किरण

बैटमिंटन

वहीं अगर बात भारत की तरफ से दावेदारी की करे तो यहां से लोगों की उम्मीद पीवी सिंधु पर लगी हुई है। 2017 और 2018 में रजत पदक तथा 2013 व 2014 में कांस्य पदक जीत चुकीं सिंधु अगर अपनी जीत की लय बरकरार रखती है तो हो सकता है कि वह इस अपने खेल में आऩे वाली बाधाओं को पार करते हुए स्वर्ण पदक तक की रास्ता तय कर सकती है।

बैटमिंटन

हालांकि ऐसा अनुमान लगाया जा सकता है कि सिंधु का क्वार्टर फाइनल में उनका सामना वर्ल्ड नम्बर-2 चीनी ताइपे की ताए जू यिंग से हो सकता है। इस खिलाड़ी के खिलाफ सिंधु का रिकॉर्ड अच्छा नहीं है। अब तक दोनों के बीच कुल 14 मुकाबले हुए हैं और इनमें से 10 बार यिंग ने बाजी मारी है। बीते साल दिसम्बर में हालांकि सिधु ने यिंग को हराया था। सिंधु के लिए राहत की बात यह होगी कि बीते दो साल में यिंग के खेल में एक प्रकार की गिरावट आई है और इस कारण वह अजेय नहीं रह गई हैं।

पहले दिन होने वाले मैच का कार्यक्रम

मैच की शुरूआत वहां के समयानुसार 9 बजे से शुरु होगा, जो भारत में 12.30 बजे प्रसारित होगा।

मैन सिंगल के बीच होने वाला मैच

किदांबी श्रीकांत बनाम नट गुयेन
समीर वर्मा बनाम लोह कीन
साई प्रणीत बी बनाम जेसन एंथनी हो-श्यू
एचएस प्रणय बनाम यूटो हेनो

वुमैन डबल्स के बीच होने वाला मैच

जक्कमपुड़ी मेघना और एस राम पूर्विशा बनाम डायना कोरलेटो सोटो और निकेत अलेजांद्रा सोतोमयोर

Related posts