आईफोन की दौर में संदेशवाहक से पैगाम पहुंचा रहे हैं कश्मीरी खिलाड़ी

Trending News

Blog Post

न्यूज़

आईफोन के दौर में संदेशवाहक से पैगाम पहुंचा रहे हैं कश्मीरी खिलाड़ी 

आईफोन के दौर में संदेशवाहक से पैगाम पहुंचा रहे हैं कश्मीरी खिलाड़ी

आपकों पढ़कर भले आश्चर्च होगा कि आज के समय में जहां भारत का एक हिस्सा अपनी बात कहने के लिए आईफोन, व्हाटसएप और न जाने कितने प्रकार के गैजेट का प्रयोग करते हैं, वहीं आज भी कश्मीरी  खिलाड़ी अपनी बात को कहने के लिए संदेशवाहक का प्रयोग कर रहे हैंं, तो अब आप यह न समझने लगईएगा कि कश्मीर के लोग आज भी 18 वीं सदी में जी रहे हैं, बल्कि ऐसा करना तो उनकी मजबूरी है।

आपकों तो पता ही होगा अभी हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने कश्मीर में धारा 370 को हटना के प्रस्ताव पास किया है, जिसको लेकर कश्मीर में कुछ बवाल न हो इसलिए वहां के फोन के नेटवर्क को पूरी तरह बंद कर दिया गया है, जिसके बाद वह हिस्सा पूरी तरह आम लोगों से कट चुका है।

अपनों का हाल-चाल न मिल पाने के कारण परेशान हुए कश्मीरी खिलाड़ी

कश्मीरी

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद उपजे हालात और कश्मीर के नेटवर्क बंद किए जाने के कारण रियाल कश्मीर फुटबॉल क्लब से खेल रहे राज्य के फुटबॉलरों का संपर्क भी अपने परिवारों से कट गया। जिसके कारण वह अपने परिवार वालों का न तो हाल-चाल पूछ पा रहे हैं और न ही उनसे बात हो पा रही थी। जिसके कारण सभी खिलाड़ी बहुत परेशान थे बस इनकी इसी परेशानी को दूर करने के लिए यह नायाब तरीका निकाला गया है  कि वह अपने संदेश को रिकॉर्ड करके किसी दूसरे के माध्यम से अपने-अपने घर  संदेश पहुंचा पाएंगे साथ ही अपने घर के हाल-चाल भी जान पाएंगे।

डूरंड कप खेलने के लिए गए थे कोलकाता

कश्मीरी

धारा 370 हटने के एक दिन पहले कश्मीर की टीम डूरंड कप खेलने के लिए कोलकाता गई थी, तब कश्मीर के हालात बिल्कुल शांत थे, लेकिन धारा के हटने के बाद हालात बिल्कुल बदल गए हैं, खिलाड़ियों कई दिन गुजर गए, उनकी अपने परिवार वालों से बातचीत नहीं हो पा रही थी।

कश्मीरी

जिसके कारण सभी खिलाड़ी बहुत परेशान हो गए हैं, इसी परेशानी को सुलझाने के लिए ऐसा नायाब कदम उठाया गया था। जो यह सोचने में मजबूर करता है, कि एक तरफ हम जहां कश्मीर को लेकर तरह-तरह के जोक बनाकर सोशल साइट्स पर अपलोड किए जा रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ वहां के लोग सच में कितनी ज्यादा परेशानियों से गुजर रहे हैं।

कश्मीर का पहला राष्ट्रीय फुटबॉल क्लब है रियाल

कश्मीर

रियाल कश्मीर आई लीग में भाग लेने वाला राज्य का पहला फुटबॉल क्लब बना। इस क्लब की जीत कश्मीरियों के लिए खुशी का जरिया बन गई। टीम के मैचों के दौरान स्थानीय दर्शक बड़ी तादाद में श्रीनगर के टूरिस्ट रिसेप्शन सेंटर (टीआरसी) मैदान में पहुंचते हैं। 15 हजार दर्शकों की क्षमता वाले इस मैदान पर घरेलू टीम के सभी मैच होते हैं।

Related posts