भारतीय ओलम्पिक दल का खेल गांव में स्वागत 1

रियो डी जेनेरियो, 3 अगस्त (आईएएनएस)| भारतीय ओलम्पिक दल का रियो ओलम्पिक-2016 के खेल गांव में औपचारिक तौर पर स्वागत किया गया। ओलम्पिक खेलों के 31वें संस्करण की शुरुआत शुक्रवार से हो रही है। यह समारोह मंगलवार को कुल 45 मिनट तक चला जिसमें भारतीय दल के तकरीबन आधे सदस्य मौजूद थे।

भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष एन. रामचन्द्रन और चीफ डी मिशन राकेश गुप्ता ने खेल गांव की मेयर एवं दो बार की ओलम्पिक पदक विजेता जानेथ आर्केन को दो तोहफे दिए।

इसमें एक चांदी के हाथियों का जोड़ा और दूसरा सोने की मोर था, जिसमें आईओए का लोगो लगा था।

इस समारोह में भारतीय दल और बहामास, बुर्किना फासो, गांबिया और नार्वे के दलों का स्वागत किया गया। इन सभी राष्ट्रों का ध्वज फहराया गया और उनके राष्ट्रगान भी गाए गए।

भारतीय ओलम्पिक दल का खेल गांव में स्वागत 2

समारोह की शुरुआत ब्राजील के आदिवासी नृत्य से हुई जिसके बाद यहां ब्राजील की धुनें पेश की गईं जिसमें फोररो, साम्बा और बोसा नोवा शामिल हैं।

ब्राजील के दिवगांत संगीतकार राउल सेइजाक्स और टिम माइया का संगीत भी बजाया गया।

संगीत व नृत्य के बाद मेयर आर्केन द्वारा खेलों के महत्व पर भाषण भी दिया गया।

भारत के अधिकतर खिलाड़ी पहले ही यहां पहुंच चुके हैं और खेल गांव में रह रहे हैं।

भारतीय दल से निशानेबाज जीतू राय, प्रकाश नांजप्पा, गुरप्रीत सिंह, चैन सिंह, एथलीट खुशबीर कौर और मनप्रीत कौर, महिला हॉकी टीम, तैराक सजन प्रकाश और शिवानी कटारिया के अलावा कुछ कोच और अधिकारी भी मौजूद थे।

इस ओलम्पिक में भारत का अब तक का सबसे बड़ा दल गया है जिसमें 15 खेलों के 120 खिलाड़ी शामिल हैं। पिछले लंदन ओलम्पिक-2012 में भारत ने छह पदक अपने नाम किए थे जिसमें दो रजत और चार कांस्य पदक शामिल थे।