रियो ओलम्पिक 2016: क्लोजिंग सेरेमनी में साक्षी मलिक बनी भारत की ध्वजावाहक

sagar mhatre / 22 August 2016

भारतीय पहली महिला रेसलर ओलंपिक पदक विजेती, साक्षी मलिक को ओलंपिक के समापन समारोह में भारतीय तिरंगा उठाने का मौका मिला.  योगेश्वर दत्त के ओलम्पिक से बाहर होते ही विजेंद्र सिंह का आया बड़ा बयान

उनके अलावा बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु ने भारत के लिए सिल्वर मेडल जीता था, लेकिन वो शनिवार को ही अपने घर वापस लौटी थी. रवीवार को योगेश्वर दत्त के हारने के बाद, भारतीय ओलंपिक टीम ने ये घोषणा की थी कि, साक्षी मलिक भारतीय तिरंगा हाथ में लेकर समापन समारोह में जाएगी.

भारतीय खिलाड़ियों ने इस साल के ओलंपिक में काफी निराशाजनक प्रदर्शन किया, लेकिन महिला कुश्ती रेसलर साक्षी मलिक ने भारत के लिए कांस्य पदक जीता, और हमारे देश की शान बढाई.

यह भी पढ़े: भारतीय टीम के इस दिग्गज खिलाड़ी के सामने बल्लेबाजी करने से डरते थे एडम गिलक्रिस्ट

1992 के ओलंपिक में भारत को कोई मेडल नहीं मिला था, लेकिन उसके बाद के हुए सभी ओलंपिक में भारत ने एक मेडल तो जीता ही हैं. लेकिन इस बार ऐसा लगने लगा था, कि भारत एक भी मेडल नहीं जीतेगा, लेकिन साक्षी मलिक के साथ-साथ पीवी सिंधु ने भी सिल्वर मेडल जीता.

गुप्ता जो भारतीय ओलंपिक टीम का हिस्सा थे, उन्होंने कहा, कि साक्षी और सिंधु दोनों ने कमाल का प्रदर्शन किया, और हमारी शान बढाई.

यह भी पढ़े: शर्मनाक: जाति के आधार पर गुगल पर सबसे ज्यादा सर्च किये जाने वाली खिलाड़ी बनी सिन्धु और मलिक

दोनों काफी युवा हैं, और आगें कई ओलंपिक में उनको भारत का प्रतिनिधित्व करना हैं. सिंधु तो गोल्ड मेडल जीतने के करीब थी, लेकिन उनको सिल्वर मिला.

ये दोनों भारत में महिलाओं के लिए प्रेरणा बनेगी, और भारत आगें और भी अच्छा करेगा.

इस साल का रियो ओलंपिक अब खत्म हो गया हैं, और ब्राजील ने काफी अच्छे से इसे होस्ट किया. अब अगला ओलंपिक 2020 को जापान के टोक्यो में होगा.

यह भी पढ़े: WWE समर स्लैम में रद्द हुआ बड़ा मैच