भारत के जेरेमी लालरिनुंगा ने यूथ ओलंपिक्स 2018 में स्वर्ण पदक जीत रचा इतिहास

Trending News

Blog Post

Sports news

भारत के लाल, जेरेमी लालरिनुंगा ने यूथ ओलंपिक्स में स्वर्ण पदक जीत रचा इतिहास 

भारत के लाल, जेरेमी लालरिनुंगा ने यूथ ओलंपिक्स में स्वर्ण पदक जीत रचा इतिहास

तीसरे यूथ ओलंपिक्स में यानी यूथ ओलंपिक्स 2018 में पंद्रह वर्षीय युवा, जेरेमी लालरिनुंगा ने भारत की झोली में पहला स्वर्ण पदक डाला है। इसी के साथ अब भारत, तीन रजत और एक स्वर्ण पदक के साथ पदक तालिका में कुल चार पदकों के साथ आठवें स्थान पर बना हुआ है।

आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि यह यूथ ओलंपिक्स के इतिहास में भारत के किसी एथलीट द्वारा जीता गया पहला स्वर्ण पदक है।

भारोत्तोलन के 62 किग्रा वर्ग में जीता पदक

भारत के लाल, जेरेमी लालरिनुंगा ने यूथ ओलंपिक्स में स्वर्ण पदक जीत रचा इतिहास 1

जेरेमी लालरिनुंगा ने बॉयज के 62 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक पर कब्ज़ा जमाया है। स्नैच राउंड में उन्होंने 124 किग्रा भार उठाकर पहला स्थान प्राप्त किया। बता दें कि भारत के इस लाल ने शुरुआत ही 120 किग्रा से की थी।

लेकिन उनका दूसरा प्रयास, यानी 124 किग्रा भार को उठाने में वो सफ़ल नहीं हो पाए। तीसरे राउंड में उन्होंने 124 किग्रा भार उठाने का ही प्रयास किया और सफ़ल भी रहे।

दूसरा राउंड रहा एकतरफा

दूसरा राउंड यानी, जब क्लीन एंड जर्क राउंड की बारी आई। उन्होंने शुरुआत ही वहाँ से की, जहाँ रजत पदक विजेता का अभियान ख़त्म हुआ। एक बार फिर वो दूसरे प्रयास में असफ़ल रहे।

भारत के लाल, जेरेमी लालरिनुंगा ने यूथ ओलंपिक्स में स्वर्ण पदक जीत रचा इतिहास 2

लेकिन उनका तीसरा प्रयास 150 किग्रा भार वर्ग का रहा, जिसमें वो सफ़ल हुए और स्वर्ण पक्का किया। जेरेमी का आख़िरी प्रयास, उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी, तुर्की के केनर तोप्तास से पूरे 9 किग्रा ज्यादा रहा।

इससे भारतीय युवा का कुल स्कोर (124+150) यानी 274 किग्रा रहा और रजत पदक विजेता से पूरे 11 किग्रा वज़न ज्यादा उठाया जेरेमी लालरिनुंगा ने। बता दें कि उन्होंने इसी साल एशियन चैंपियनशिप में भी भारतीय राष्ट्रीय रिकॉर्ड को पीछे छोड़ते हुए कांस्य पदक पर कब्ज़ा जमाया था।

Related posts

Leave a Reply