पीवी सिंधु का ट्रॉफी जीतने के टूटा सपना,फिर हारी जापान की यामागुची से

Trending News

Blog Post

Sports news

यामागुची से हारी पीवी सिंधु फिर टूटा ट्रॉफी जीतने का सपना 

यामागुची से हारी पीवी सिंधु फिर टूटा ट्रॉफी जीतने का सपना

इस दुनियां में अगर सबसे ज्यादा किसी चीज का दुःख होता है तो वह किसी सपने के टूटने , कुछ इसी दुःख से गुजर रही है भारत की प्रसिद्ध शटलर पीवी सिंधु। यह उनकी एक हफ्ते की भीतर दूसरी हार है वो भी जापान की यामागुची से जिन्होंने पीवी सिंधु को पांच दिन पहले ही एक मैच में करारी शिकस्त दी थी।

पीवी सिंधु

पीवी सिंधु का दूसरा मुकाबला जापान ओपन टूर्नामेंट में शुक्रवार को जापान की यामागुची से फिर हुआ। जिसमें उन्हें जापान की  यामागुची से 21-18 और 21-15 हार का सामना करना पड़ा।

वर्ल्ड रैंकिग में पीवी सिंधु हैं पांचवे स्थान पर

अगर बात वर्ल्ड रैंकिंक की किया जाए तो पीवी सिंधु इस समय विश्व के पांचवें खिलाड़ी के रूप में शुमार है। वहीं जापान की यामागुची उनसे तीन कदम आगे दूसरे नम्बर पर हैं। यह उनकी सिंधु के साथ दूसरी भिड़त है पहली रविवार को हुई थी।

पीवी सिंधु

दोनों भिड़त में पीवी सिंध को हार का सामना करना पड़ा था। इससे पहले भी सिंधु और यामागुची की 16 बार भिड़त हो चुकी है।जिसमें से उन्हें 6 बार हार का सामना करना पड़ा है।

सात महीने से नहीं जीता कोई खिताब

पीवी सिंधु ने इस साल लगभग आठ टूर्नामेंट खेले थे। जिनमें से केवल एक ही टूर्नामेंट में फाइनल में जगह बना पाई।वही दो बार सेमिफाइनल में पहुंच सकी।हैदराबादी खिलाड़ी ने अपनी आखिरी ट्रॉफी पिछले साल सात दिसंबर को वर्ल्ड टूर फाइनल में जीती थी।

उसके बाद से उनके जीतने की भूख नहीं मिट सकी है । वह लगातार एक के बाद एक मैच हारती जा रही है। वहीं यामागुची इस साल तीन खिताब जीत चुकी हैं और अपने चौथे टाइटल से सिर्फ दो कदम दूर हैं।

अब यामागुची का मुकाबला जापान ओपन के सेमीफाइनल में चीनी खिलाड़ी चेन यू फी से होगा। जबकि दूसरे सेमीफाइनल में मिचेल ली और ओकुहारा आमने-सामने होंगी।

भारत की पुरूष वर्ग की तरफ से सेमीफाइनल में मुकाबला होगा साई प्रणीत से

एक तरफ जहां महिला वर्ग के सेमिफाइनल में भारत की तरफ से कोई नहीं पहुंच सकी। वही दूसरी ओर पुरूष वर्ग से खेलने वाले भारत साई प्रणीत सेमीफाइनल में पहुंच गए ।

साई प्रणीत

उन्होंने क्वार्टरफाइनल में इंडोनेशिया के टॉमी सुगियार्तो को हराया को हराकर मैच को अपने नाम किया। प्रणीत ने यह मुकाबला 21-12, 21-15 से सीधे गेमों में जीत लिया। दोनों खिलाड़ियों के बीच यह मैच 36 मिनट तक चला। सेमीफाइनल में प्रणीत का मुकाबला जापान के केन्तो मोमोता से होगा।

Related posts