भारत को शीर्ष पर बनाये रखने की कोशिश करूंगी: सानिया मिर्जा

भारत की  टेनिस सनसनी सानिया मिर्जा ने कहा है, कि वह दुनिया की नंबर 1 युगल महिला खिलाड़ी की रैंकिंग बरकरार रखने के लिए हमेशाही कोशिश करेंगी.

सानिया केअगुआई वाली भारतीय टीम नेफेड कप 2015 ग्रुप दो एशिया ओसियाना टूर्नामेंट में फिलीपीन्स को हराकर ग्रुप एक में भारत की जगह पक्की करने के बाद कहा, कि

“काश ऐसा होता, कि मैं भविष्य बता सकती. लेकिन ऐसा नहीं है, इसलिए मैं कोशिश करुंगी,कि नम्बर 1 युगल रैंकिंग हमेशा भारत के पास ही रहे.

सानिया ने युगल मुकाबले में भारत को फिलीपीन्स पर 2-1 से जीत दर्ज करने में अहम भूमिका निभाई, महिला युगल में शीर्ष रैंकिंग हासिल करने के बाद पहला टूर्नामेंट खेल रही सानिया ने टीम के फेड कप में मैच जीतने पर खुशी जताई है.

उन्होंने कहा, कि-

“मेरे लिए नंबर एक खिलाड़ी के रुप में हैदराबाद में आकर खेलना शानदार अनुभूति है, नंबर एक बनने के बाद यह मेरा पहला टूर्नामेंट है,और यह मेरे लिए शानदार है अनुभव है,लेकिन निश्चित तौर पर यहाँ जीत दर्ज करना आसान नहीं था, क्योंकि हम घरेलू सरजमीं पर खेल रहे थे, और हमारे उपर दबाव था. मैं क्ले कोर्ट पर खेल रही थी. मुझे यहां दूधिया रोशनी में खेलना पडा जो मुश्किल था.”

सानिया का युवा भारतीय महिला खिलाडियों प्रार्थना थोंबारे और अंकिता रैना ने भी अच्छा साथ दिया जिससे भारत अपने सभी मुकाबले जीतने में सफल रहा, अंकिता को कल एकल मुकाबले में फिलीपीन्स की कैथरीना लेनहार्ट के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पडा था. जो टूर्नामेंट में भारतीय खिलाड़ी की एकमात्र हार थी, सानिया ने कहा, कि-

“इन युवा लडकियों के साथ खेलना शानदार रहा”

आज रात स्टुटगर्ट डब्ल्यूटीए टूर्नामेंट के लिए रवाना हो रही सानिया से जब इस टूर्नामेंट से उम्मीद के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा, कि

“फिलहाल मैं स्टुटगार्ट के बारे में नहीं सोच रही हूं, मैं फेड कप के बारे में सोच रही हूं,मै काफी खुश हूँ.”

अगले साल होने वाले फेड कप ग्रुप एक में खेलने के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, कि-

“अगर मैं अगले साल तक संन्यास नहीं लेती हूँ, तो मैं खेलूंगी ऐसा कोई कारण नहीं कि मैं नहीं खेलूंगी.”

Related Topics