विम्बल्डन टेनिस चैंपियनशिप जितने वाली पहली महिला खिलाड़ी बनी सानिया | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

टेनिस

विम्बल्डन टेनिस चैंपियनशिप जितने वाली पहली महिला खिलाड़ी बनी सानिया 

शीर्ष वरीयता प्राप्त सानिया मिर्जा और मार्टिना हिंगिस की जोड़ी ने दूसरे क्रम की रूसी जोड़ी एकतेरिना मकारोवा और एलेना वेस्नीना को कड़े संघर्ष के बाद पराजित कर विम्बल्डन टेनिस चैंपियनशिप में महिला डबल्स खिताब जीत लिया।

इंडो-स्विस जोड़ी ने यह खिताबी मुकाबला 5-7, 7-6 (4), 7-5 से जीता। यह खिताबी मुकाबला दो घंटे 24 मिनट मिनट चला। 28 वर्षीया सानिया का यह पहला विम्बल्डन तथा चौथा ग्रैंड स्लैम खिताब है। उन्होंने इससे पहले तीनों ग्रैंड स्लैम खिताब मिक्स्ड डबल्स वर्ग में जीते थे। उन्होंने महेश भूपति के साथ 2009 में ऑस्ट्रेलियन ओपन और 2012 में फ्रेंच ओपन जीते जबकि 2014 में ब्राजील के ब्रूनो सोआरेस के साथ यूएस ओपन अपने नाम किया था। वे इससे पहले विम्बल्डन में एक बार भी फाइनल में नहीं पहुंची थी। वैसे सानिया ने ऑल इंग्लैंड क्लब में 12 वर्ष पहले रूस की ‍एलिसा क्लेबानोवा ने विम्बल्डन जूनियर गर्ल्स डबल्स खिताब हासिल किया था।

34 वर्षीया मार्टिना हिंगिस ने 17 वर्ष बाद विम्बल्डन में सीनियर वर्ग का डबल्स खिताब हासिल किया। आठ महिला डबल्स ग्रैंड स्लैम खिताब जीत चुकी हिंगिस ने यहां 1996 और 1998 में महिला डबल्स में खिताबी सफलता हासिल की थी। हिंगिस ने करियर में पांच एकल ग्रैंड स्लैम भी अपने ‍नाम किए, इसमें 1997 में जीता हुआ विम्बल्डन खिताब भी शामिल है।

पहले सेट के पहले गेम में सानिया मिर्जा की सर्विस भंग हुई, लेकिन इंडो-स्विस जोड़ी ने अगले ही गेम में एलेना वेस्नीना की सर्विस भंग कर स्कोर 1-1 कर दिया। इसके बाद 5-5 तक स्कोर बराबर चलता रहा। 11वें गेम में रूसी जोड़ी ने हिंगिस की सर्विस भंग कर 6-5 की बढ़त बनाई और इसके बाद मकारोवा ने सर्विव बरकरार रखते हुए पहला सेट 7-5 से अपने नाम किया। यह सेट 38 मिनट चला।

दूसरे सेट में दोनों जोड़‍ियों ने अपनी-अपनी सर्विस बरकरार रखी और सेट का फैसला टाइब्रैकर के जरिए हुआ। टाइब्रैकर में इंडो-स्विस जोड़ी ने अपने अनुभव का लाभ उठाते हुए 7-4 से जीत दर्ज करते हुए मैच को 1-1 सेट की बराबरी पर पहुंचा दिया। यह सेट 51 मिनट चला।

निर्णायक सेट के चौथे गेम में रूसी जोड़ी ने हिंगिस की सर्विस भंग कर 3-1 की बढ़त बनाई। इसके बाद एक समय रूसी जोड़ी 5-2 से आगे थी, लेकिन इंडो-स्विस जोड़ी ने लगातार तीन गेम जीते और स्कोर 5-5 हो गया। इसके बाद सेंटर कोर्ट की छत बंद किए जाने के कारण कुछ देर खेल रोका गया। 11वें गेम में इंडो-स्विस जोड़ी ने वेस्नीना की सर्विस भंग कर 6-5 की बढ़त बनाई और हिंगिस ने सर्विस बरकरार रखते हुए यह सेट 7-5 से जीतते हुए मैच और खिताब हासिल किया।

 

Related posts

Leave a Reply