/

US Open 2019: अपनी 100वीं जीत के साथ, 24वें ग्रैंड स्लैंम जीतने की तरफ बढ़ी सेरेना

सेरेना विलियम्स

सुपन मॉम के नाम मशहूर सेरेना विलियम्स अपने 24वें ग्रैंड स्लैंम को अपने नाम करने की पूरी तैयारी कर चुकी है। उन्होंने ग्रैंड स्लैम की तरफ आने वाली बाधाओं को दूरी करते हुए क्वार्टर फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है। इसके साथ उनके फैंस की उम्मीदें उनसे इस कदर  बढ़ गई है कि लोगों को लगने लगा है कि वह ग्रैंड स्लैंम के 24 वें खिताब को अपने नाम कर ले लेंगी।

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

साल के आखिरी ग्रैंड स्लैम के क्वार्टर फाइनल में दर्ज कराई जीत

सेरेना विलियम्स

अमेरिकी स्टार खिलाड़ी सेरेना विलिम्यस ने साल के आखिरी ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट यूएस ओपन 2019  के क्वार्टर फाइनल में जीत दर्ज करते हुए सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है।  44 मिनट तक खेले गए मुकाबले में सेरेना ने चीनी खिलाड़ी वांग किआंग  को हराकर इस मुकाबले में अपनी जगह पक्की की। छह बार की यूएस ओपन चैंपियन रह चुकी विलियम्स ने यह जीत सीड वांग को 6-1, 6-0 से मात देकर हासिल की।

सेरेना की 100 वीं जीत साबित हुआ यह मुकाबला

सेरेना विलियम्स

हालांकि आपकों बता दे कि अमेरिकन ओपन में सेरेना विलियम्स की यह 100 वीं जीत साबित हुई। इस जीत के बाद सेरेना ने अपनी बात रखते हुए कहा कि

 ‘यह वास्तव में अविश्वसनीय है, सचमुच. जब मैं पहली बार यहां आई थी, तब मैं 16 साल की थी. मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं कभी 100वीं जीत दर्ज करूंगी.’

काफी समय से 24 वें ग्रैंड स्लैम का खिताब अपने नाम करने के संघर्ष में जुटी सेरेना

सेरेनी विलियम्स

हालांकि आपकों बता दे कि 37 वर्षीय अमेरिकन खिलाड़ी सेरेना विलियम्स काफी लंबे समये से अपने 24 ग्रैंड स्लैम को अपने नाम करने के लिए संघर्ष में जुटी हुई है। इसके लिए वह जी- तोड़ कोशिश कर रही है। वहीं दूसरी ओर 27-वर्षीय वांग किआंग ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए टूर्नामेंट में एक सेट भी नहीं गंवाया था। इसमें प्री-क्वार्टर फाइनल में पूर्व फ्रेंच ओपन चैंपियन एश्ली बार्टी  के खिलाफ हुआ मैच भी शामिल है, जिसमें उन्होंने शानदार जीत दर्ज की थी। हालांकि क्वार्टर फाइनल में वह सेरेना के सामने संघर्ष करती नजर आईं. वांग के खेल के बारे में सेरेना ने कहा, ‘जब मैं किसी ऐसे खिलाड़ी से खेलती हूं जो वास्तव में अच्छा खेल रहा है तो मुझे पता होता है कि इस मैच में या तो उसे घर जाना होगा या फिर मुझे, लेकिन मैं घर जाने के लिए तैयार नहीं हूं. मुझे जीतना होगा और आगे बढ़ना होगा.’