रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में ये 3 खिलाड़ी संभाल सकते हैं मुंबई इंडियंस की कमान 1

भारतीय टीम के स्टार शलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा करीब 6 वर्षों से मुंबई इंडियन की कप्तानी कर रहे हैं. मुंबई इंडियंस टीम मैनेजमेंट ने रोहित को रिकी पॉन्टिंग के बाद 2013 में टीम की कमान सौंपी थी. मुंबई की टीम रोहित शर्मा के कप्तान बनने से पहले एक बार भी आईपीएल का ख़िताब अपने नाम नहीं कर पाई थी, मगर रोहित के पहली बार कप्तान बनते ही टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए आईपीएल इतिहास का अपना पहला ख़िताब जीता था.

मुंबई इंडियंस रोहित शर्मा की कप्तानी में अब तक 4 आईपीएल सीजन जीत चुकी है. रोहित शर्मा आईपीएल इतिहास के सबसे सफल कप्तान है. रोहित अब एसा चेहरा है जिसे मुंबई इंडियंस कभी अपने से दूर नहीं करना चाहेगी. मगर यदि रोहित किसी कारण वश एक-दो मैच न खेल पाए तो कौन टीम का कप्तान बनेगा बहुत लोग ये जरूर जानना चाहते हैं. चलिए एक नजर उन खिलाड़ियों पर भी डालते है जो रोहित की गैरमौजूदगी में टीम की कमान संभल सकते है.

क्विंटन डी कॉक ले सकते हैं रोहित शर्मा की जगह

विकेट कीपर बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक साउथ अफ्रीका के सबसे अहम खिलाडियों में से एक है. हालही में उन्हें साउथ आफ्रिका टी 20 टीम की कमान सौंपी गयी है. डी कॉक के नेतृत्व में साउथ आफ्रिका ने टी 20 सीरीज इंडिया से 1-1 से ड्रा खेली थी . उनका व्यक्तिगत प्रदर्शन भी काफी शानदार रहा है उन्होंने टी 20 सीरीज में 2 मैच में 2 हाफ सेंचुरी के साथ 139 रन बनायें थे. जबकि एक मैच बारिश के कारण नहीं हो पाया था. क्विंटन डी कॉक इसी कारणगा रोहित की गैरमौजूदगी में टीम का नेतृत्व कर सकते है.

डी कॉक ने कप्तान के रूप में अपने शुरुआती मैच में सभी को प्रभावित किया है। आईपीएल 2019 में उनका शानदार प्रदर्शन रहा, जहां उन्होंने 16 मैचों में 529 रन बनाए, उन्होंने मुंबई इंडियंस को टूर्नामेंट का चैंपियन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

मुंबई इंडियंस के पास पिछली बार उप-कप्तान नहीं था. लेकिन भारतीय परिस्थितियों का अपना विशाल अनुभव और 50 मैचों के सफल आईपीएल करियर को देखते हुए वे इस बार स्टैंड-अप कप्तान के रूप में कोक को नियुक्त करने के बारे में सोंच सकते हैं. उनकी कप्तानी से टीम के सभी विभागों को फायदा होगा, ठीक उसी तरह जैसे उन्होंने SA टीम के लिए किया था.

कीरोन पोलार्ड ले सकतें है रोहित शर्मा की जगह

जब रोहित शर्मा 2019 में चोटिल हुए थे, तो वह कीरोन पोलार्ड ही थे जो टीम के लिए स्टैंड-अप कप्तान के रूप में सामने आए थे। इस वेस्टइंडीज के हरफनमौला खिलाड़ी के विशेष प्रदर्शन के बलबूते पर वह मैच सीजन का सबसे यादगार खेल बन गया. एक हाई प्रेसर मुकाबले में, उन्होंने अपनी सबसे अच्छी आईपीएल पारी खेलकर टीम को हारे हुए मैच में जीत दिलाई थी. पोलार्ड ने उस मैच में मात्र 31 गेंद में ताबड़तोड़ 83 रन बनाये थे.

32 वर्षीय पोलार्ड अपनी टीम के लिए अब तक के सबसे भरोसेमंद मैच विनर खिलाडी रहे हैं। इसके अलावा, उनका अंतरराष्ट्रीय अनुभव एक और महत्वपूर्ण कारण है जो टीम की मदद करता है। इस तरह के अनुभव वाला खिलाड़ी हमेशा युवाओं को मार्गदर्शन देता है.

एक ऑलराउंडर होने के नाते, पोलार्ड बल्लेबाजों और गेंदबाजों दोनों खिलाड़ियों का मार्गदर्शन कर सकते हैं। उन्होंने वेस्टइंडीज टीम की कप्तानी की है, और MI भी ऐसे खिलाड़ी का इस्तेमाल करना पसंद कर सकता है.

जसप्रीत बुमराह भी कर सकतें है रोहित की जगह कप्तानी

हालांकि जसप्रीत बुमराह के पास कप्तानी का कोई पुराना अनुभव नहीं है, लेकिन इक्का-दुक्का भारतीय पेसर के पास मुंबई इंडियंस टीम का नेतृत्व करने के लिए सभी लक्षण हैं,बुमराह उनमें से एक है. हर किसी टीम को एसा ही गेंदबाज चाहिए होता है जो मैदान की रूपरेखा तैयार करता है और गेंदबाजी आक्रमण का नेतृत्व करता है. इसी कारण बुमराह भी मुंबई की कप्तानी सँभालने का माद्दा रखते हैं.

कोहली ने बुमराह को भी टीम इंडिया की सफलता का श्रेय दिया है क्योंकि उन्होंने हर हालत में यह काम किया है। इसमें बताने की आवश्यकता नहीं है कि बुमराह को फील्ड सेटिंग्स का सबसे अच्छा ज्ञान है और प्रत्येक बल्लेबाज को गेंदबाजी करने के लिए लाइन और लेंथ की जानकारी है, यही खूबी है जिसने उन्हें खेल के सभी प्रारूपों में सफलता हासिल करने में मदद की है।

जसप्रीत बुमराह का अनुभव काफी हद तक टीम के अनुभवहीन गेंदबाजों की मदद करेगा । अगर मुंबई का कप्तान बुमराह को बनाया जाता है तो यह भूमिका निभाना उनके के लिए दिलचस्प होगा।

यही वो तीन खिलाडी हैं जिन पर मुंबई की टीम विचार कर सकती है.

Leave a comment