सौरव गांगुली

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप  (WTC Final) के फाइनल में भारत और न्यूजीलैंड की टीमें 18 जून को भिड़ने वाली हैं. इस मुकाबले को लेकर बीसीसीआई (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) काफी उत्साहित थे.ऐसा भी कहा जा रहा है था सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ये खिताबी मुकाबला देखने इंग्लैंड जाएंगे. मगर अब ये निश्चित को गया है कि सौरव गांगुली के अलावा बीसीसीआई का कोई भी अधिकारी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला देखने के लिए इंग्लैंड नहीं जा रहा है.

सौरव गांगली नहीं जाएंगे इंग्लैंड

सौरव गांगुली

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC Final) के फाइनल में भारत और न्यूजीलैंड की टीमें 18 जून को भिड़ने वाली हैं. इस मुकाबले पर दुनियाभर की नजर है .इस मुकाबले को लेकर बीसीसीआई अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली  (Sourav Ganguly) भी बेहद उत्साहित थे और उन्होंने इसका लुत्फ उठाने के लिए इंग्लैंड जाने की पूरी योजना बनाई थी लेकिन अब ऐसा हो नहीं पाएगा. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सौरव गांगुली वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल देखने इंग्लैंड नहीं जाएंगे.

पीटीआई को बीसीसीआई (BCCI) सूत्रों से जानकारी मिली है कि बीसीसीआई का कोई अधिकारी चाहे वो सौरव गांगुली हों या फिर सचिन जय शाह, कोई वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल देखने साउथैंप्टन नहीं जाएगा. इसकी वजह इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के सख्त क्वारंटीन नियम बताए जा रहे हैं.

सख्त क्वारंटीन नियम के चलते सौरव गांगुली ने बदला फैसला

सौरव गांगुली

खबरों के मुताबिक ईसीबी के अधिकारी ने जानकारी दी है कि सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) और जय शाह को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल देखने के लिए क्वारंटीन नियमों में छूट नहीं मिलेगी. यही कारण है कि सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने इंग्लैंड नहीं जाने का फैसला किया है. आमतौर पर अधिकारी टेस्ट मैच शुरू होने से पहले जाते हैं लेकिन ईसीबी के क्वारंटीन नियमों के मुताबिक बीसीसीआई अधिकारी अगर इंग्लैंड जाते हैं तो उन्हें 10 दिन तक कड़े क्वारंटीन नियमों का पालन करना पड़ेगा.

बता दें भारतीय महिला क्रिकेट टीम और पुरुष टीम दोनों साथ में 3 जून को इंग्लैंड पहुंचेगी.  इसके बाद इंग्लैंड में उन्हें 10 दिनों तक क्वारंटीन रहना होगा. भारतीय महिला टीम को इंग्लैंड में एक टेस्ट, 3 वनडे और 3 टी20 मैचों की सीरीज खेलनी है वहीं विराट एंड कंपनी को 18 जून को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेलना है और उसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज होगी.

इंग्लैंड में भारतीयों के बीच काफी लोकप्रिय हैं सौरव गांगुली

सौरव गांगुली

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के इंग्लैंड नहीं जाने से वो भारतीय काफी निराश होंगे जो लंबे समय से इंग्लैंड में रह रहे हैं. दअसल सौरव गांगुली इंग्लैंड में बसे भारतीय समुदाय के लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हैं.

2001 में क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड की बालकनी से नेटवेस्ट ट्रॉफी जीतने के बाद सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने जिस तरह से अपनी टी शर्ट लहराई थी उसकी यादें आज भी भारतीय क्रिकेट फैन्स की रगों में बसी हुई हैं.