in ,

ऐसे WWE रैसलर, जो कभी वर्ल्ड चैंपियन बनने के काबिल थे ही नहीं

यह सत्य है कि WWE की क्रिएटिव टीम की रणनीतियों के कारण ही कंपनी को मुनाफ़ा और घाटा होता है। हालाँकि क्रिएटिव टीम के सभी फ़ैसले विन्स मैकमेहन से होकर गुज़रते हैं। इन रणनीतियों में किसी रैसलर को WWE चैंपियन बनाने का फ़ैसला सबसे बड़ा फ़ैसला होता है।

ऐजे स्टाइल्स के पास एक वर्ष से अधिक तक चैंपियनशिप रही, लेकिन उन्होंने इसकी अहमियत कम नहीं होने दी। सीएम पंक अपने दौर में चैंपियन रहे और 434 दिन तक चैंपियनशिप की कुर्सी पर विराजमान रहे। लेकिन कुछ ऐसे रैसलर रहे हैं जो वर्ल्ड चैंपियन बनने के योग्य नहीं थे, फिर भी उन्हें वर्ल्ड चैंपियन बनाया गया।

यह भी पढ़ें: पांच WWE रैसलर, जिनकी कद-काठी फ़ेमस क्रिकेटरों से मेल खाती है

जिंदर महल

एक जॉबर की भूमिका निभाते हुए उनका करियर थम सा गया था। वर्ल्ड चैंपियनशिप का तोहफा उन्हें इसलिए मिला क्योंकि उन्होंने गज़ब की बॉडी ट्रांसफॉर्मेशन के साथ वापसी की थी। आलम यह रहा कि जिंदर महल की नाकाबिलियत के फलस्वरूप रैंडी ऑर्टन का 2017 का दौर भी पूर्णतः विफ़ल हो चला था।

जैक स्वैगर

WWE में बहुत से ऐसे रैसलर रहे हैं, जिन्हें विन्स मैकमेहन यदि टॉप पर पहुँचाने की ठान लें, तो वे किसी की नहीं सुनते। जैक स्वैगर एक बेहतरीन रैसलर रहे हैं, लेकिन उन्हें क्राउड से मिलने वाले रेस्पोंस में कभी बढ़ोतरी हुई ही नहीं।

माइक पर बोलने में हमेशा असमर्थ दिखाई पड़ने वाले इस रैसलर की जल्द ही टॉप-कार्ड डिवीज़न से मिड-कार्ड डिवीज़न में वापसी करा दी गयी।

और पढ़ें: ऐसे पांच रैसलर, जो कभी नहीं छोड़ेंगे WWE का साथ

द मिज़

‘द मिज़’ की माइक पर बोलने की काबिलियत पर संदेह करना मिज़ के साथ जैसे नाइंसाफ़ी होगी। लेकिन 2010 में मिज़ का वर्ल्ड चैंपियन बनना WWE वर्ल्ड चैंपियनशिप के साथ नाइंसाफ़ी रही। यह चैंपियनशिप का दौर मिज़ के लिए इसलिए सफ़ल नहीं हो सका, क्योंकि मिज़, स्टोरीलाइन को दिलचस्प बनाने में पूर्णतः असमर्थ दिखाई पड़े।