किसी रैसलर के लिए एक पैसा खर्च नहीं करती WWE, जाने कम्पनी के कुछ कड़वे सच 1

WWE एक ऐसी रैसलिंग कंपनी है जहाँ बड़े अधिकारियों के साथ-साथ रैसलरों को भी लगातार सफ़र करना होता है। लाइव इवेंट्स का आयोजन अलग-अलग एरीना में होता है।

इसी कारण रैसलरों को मजबूरन यात्रा करनी पड़ती है। इस आर्टिकल में हम ऐसे ही कुछ तथ्यों पर नज़र डालने जा रहे हैं। क्या नियम का पालन करना होता है WWE रैसलरों को सफ़र दौरान।

यह भी पढ़ें: यदि 2018 में इन रैसलरों की होती WWE में वापसी, तो कम्पनी को करोड़ों में नहीं अरबों में होता मुनाफ़ा

रैसलरों को ख़ुद बुक करना होता है होटल

किसी रैसलर के लिए एक पैसा खर्च नहीं करती WWE, जाने कम्पनी के कुछ कड़वे सच 2

WWE का बिज़नेस अरबों रुपए का है। लेकिन यह तथ्य सच है कि रैसलरों के लिए होटल बुक करने के लिए कंपनी एक पैसा खर्च नहीं करता है। कई दफ़ा देखा गया है कि रैसलर पैसे बचाने के लिए रूम शेयर भी करते हैं।

WWE केवल हवाई यात्रा का खर्च अदा करती है

किसी रैसलर के लिए एक पैसा खर्च नहीं करती WWE, जाने कम्पनी के कुछ कड़वे सच 3

एक जगह से दूसरी जगह स्थानांतरित होने के लिए WWE केवल रैसलरों की हवाई यात्रा का खर्च अदा करती है। खाना और होटल तक के लिए गाड़ी का बंदोबस्त भी रैसलर को ख़ुद ही करना होता है।

और पढ़ें: 2019 के शुरुआती सत्र में नया मोड़ ले सकता है इन WWE रैसलरों का करियर

जिम का बंदोबस्त ख़ुद करना होता है

किसी रैसलर के लिए एक पैसा खर्च नहीं करती WWE, जाने कम्पनी के कुछ कड़वे सच 4

किसी रैसलर के लिए वर्कआउट उतना ही ज़रूरी है, जितना किसी जीव के लिए खाना। वर्कआउट के लिए रैसलरों को जिम की व्यवस्था उपलब्ध कराने हेतु WWE जिम्मेदार नहीं है। इसे जुगाड़ कहें या बंदोबस्त, सभी की व्यवस्था ख़ुद रैसलर को ही करनी होती है।

परिवार के साथ समय बिताने का समय

किसी रैसलर के लिए एक पैसा खर्च नहीं करती WWE, जाने कम्पनी के कुछ कड़वे सच 5

किसी WWE रैसलर को अपने परिवार के साथ समय बिताने के लिए औसतन तीन से चार घंटे का ही वक़्त मिलता है। यह बेकार सा नज़र आने वाला नियम संभव ही रैसलरों को मानसिक रूप से क्षतिग्रस्त करता है।

सफ़र के दौरान खाने की व्यवस्था ख़ुद करनी होती है

किसी रैसलर के लिए एक पैसा खर्च नहीं करती WWE, जाने कम्पनी के कुछ कड़वे सच 6

सफ़र के दौरान, WWE, रैसलरों की डाइट पर एक पैसा खर्च नहीं करता है। रैसलर ख़ुद ही खाने की व्यवस्था करते हैं। ऐसा भी देखा गया है कि रैसलिंग ऑफिशियल पहले से ही अपनी मील तैयार कर एरीना में दाखिल होते हैं। क्योंकि अधिकारियों को नहीं पता कि कोई रैसलर किस तरह की डाइट लेना पसंद करता है।