IPL
IPL

इस वक्त पूरी दुनिया आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप (World Cup) के रंग में रंगी हुई है और इस वर्ल्ड कप के बाद पूरी दुनिया IPL के खूमार में खो जाएगी।  हाल ही में खबर आई थी कि बीसीसीआई दिसंबर के महीने में IPL की नीलामी को आयोजित कर सकती है इसके बाद अभी कुछ दिन पहले ही सभी आईपीएल टीमों ने अपने रिलीज और रिटेन खिलाड़ियों की सूची जारी की है।

जब से इन रिलीज और रिटेन खिलाड़ियों की सूची जारी हुई है तभी से सभी क्रिकेट के चाहने वाले IPL की नीलामी का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं उनका कहना है कि इस बार IPL फ्रेंचाइजियों ने अपने कई दिग्गज खिलाड़ियों को रिलीज किया है जिसकी वजह से नीलामी की टेबल पर आईपीएल टीमों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिल सकती है।

Advertisment
Advertisment

लेकिन इसी बीच खबर आई है कि IPL नीलामी के पहले ही आईपीएल के चाहने वालों को बड़ा झटका लगा है दरअसल बात यह है कि एक आईपीएल फ्रेंचाइजी के मालिक अब इस दुनिया में नहीं है और इस खबर को सुनने के बाद उनके सभी समर्थक और चाहने वाले बहुत ही मायूस हो गए हैं।

आईपीएल नीलामी से पहले पुणे वॉरियर्स इंडिया के मालिक की मृत्यु

सहारा सुब्रत रॉय
सहारा सुब्रत रॉय

सहारा ग्रुप के चेयरमैन और IPL की फ्रेंचाइजी पुणे वॉरियर्स इंडिया के मालिक सहारा सुब्रत रॉय मे कल रात मुंबई में 75 वर्ष की आयु में अपनी आखिरी सांस ली। बिहार के अररिया से ताल्लुक रखने वाले देश के सफलतम व्यवसाइयों में से एक सहारा सुब्रत रॉय ने मुंबई के कोकिला बएन अस्पताल में अपने शरीर का त्याग किया है।

सहारा ग्रुप का भारतीय क्रिकेट के साथ बहुत ही पुराना नाता रहा है यह ग्रुप एक समय भारतीय क्रिकेट की जान हुआ करता था और हर एक जगह पर इसी ग्रुप और इसकी सह कंपनियों के विज्ञापन भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों के द्वारा किये जाते थे।

2010 में बनाई आईपीएल फ्रेंचाइजी

सहारा ग्रुप के मालिक सुब्रत रॉय की क्रिकेट के खेल में बहुत ही अधिक रुचि थी और उन्हें कई मर्तबा खिलाड़ियों के साथ बातचीत करते हुए भी देखा जाता था, इसके साथ ही उन्होंने कई टूर्नामेंट को आयोजित भी किया था। क्रिकेट के प्रति दीवानगी इस कदर थी कि, साल 2010 में सुब्रत रॉय ने IPL फ्रेंचाइजी पुणे वॉरियर्स इंडिया को खरीदा और इस टीम में कई दिग्गज खिलाड़ियों को शामिल किया।

Advertisment
Advertisment

इसके बाद आईपीएल 2012 तक टीम में सब कुछ सही ढंग से चल रहा थे लेकिन फिर उसके बाद टीम और बीसीसीआई की मैनेजमेंट के बीच अचानक से विवाद बढ़ने लगे और इसी को ध्यान में रखते हुए बीसीसीआई ने साल 2013 में टीम की सदस्यता को ही निरस्त कर दिया।

इसे भी पढ़ें – सेमीफाइनल से पहले टीम इंडिया के लिए आई बुरी खबर, इस दिग्गज का हुआ निधन, शोक में डूबे रोहित-कोहली